सौतेले भाई की मदद से हॉन्गकॉन्ग के हीरे बेचने की कोशिश में था नीरव मोदी

सौतेले भाई की मदद से हॉन्गकॉन्ग के हीरे बेचने की कोशिश में था नीरव मोदी
नीरव मोदी (फाइल फोटो)

ईडी ने सोमवार को बताया कि पांच देशों में नीरव और उसके परिवार के सदस्यों की संपत्ति और बैंक खाते अटैच कर दिए गए हैं. हॉन्गकॉन्ग से 22 करोड़ से ज्यादा कीमत के हीरे भी भारत लाए गए.

  • News18.com
  • Last Updated: October 2, 2018, 12:47 PM IST
  • Share this:
भगौड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने देश-विदेश में फैली अपनी संपत्ति को बेचकर पैसे जुटाने की कोशिशें तेज कर दी हैं. उसकी ऐसी ही एक कोशिश को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नाकाम कर दिया है. वह हॉन्गकॉन्ग में अपने सौतेले भाई की मदद से 22.7 करोड़ के हीरे बेचने की तैयारी में था. हालांकि ईडी ने नीरव मोदी की इन कोशिशों पर पानी फेरते हुए इन हीरों को सीज कर लिया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, नीरव मोदी ने हॉन्गकॉन्ग से अपने हीरे लेने के लिए अमेरिका में रह रहे सौतेले भाई नेहल मोदी को भेजा था. लेकिन जिस एजेंट के पास हीरे रखे थे उसने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की मदद की और हीरे भारत भेज दिए. ईडी ने सोमवार को बताया कि पांच देशों में नीरव और उसके परिवार के सदस्यों की संपत्ति और बैंक खाते अटैच कर दिए गए हैं. हॉन्गकॉन्ग से 22 करोड़ से ज्यादा कीमत के हीरे भी भारत लाए गए.

ये भी पढ़ेंः PNB घोटाला: नीरव मोदी की बहन पूर्वी के खिलाफ भी रेड कॉर्नर नोटिस जारी



ईडी ने देश में नीरव मोदी और उनके परिवार की अब तक लगभग 700 करोड़ की संपत्ति ज़ब्त कर ली है. नीरव के खिलाफ चार्जशीट भी फाइल की गई है जिसमें आरोप लगाया गया है कि नीरव ने अलग-अलग डमी कंपनियों को विदेश में 6400 करोड़ रुपये हवाला के माध्यम से भेजा. ये कंपनियां नीरव और उसके परिवार की थीं.
ये भी पढ़ेंः PNB घोटाला : ED ने जब्त की नीरव मोदी की 637 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी

दरअसल, नीरव मोदी पीएनबी बैंक फ्रॉड के बाद से फरार है. उसके खिलाफ इंटरपोल ने गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया है. भारत भी यूके के साथ उनके प्रत्यर्पण की कोशिश कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading