वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पढ़ी दो लाइनें, यहां पढ़ें पूरा शेर

निर्मला सीतारमण शुक्रवार को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश कर रही हैं. अपने पहले बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सभी सेक्टर्स को खुश करने की पूरी कोशिश करती दिखाई दे रही हैं.

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 12:50 PM IST
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पढ़ी दो लाइनें, यहां पढ़ें पूरा शेर
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक शेर की दो लाइनें पढ़कर अपने बजट भाषण की शुरुआत की
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 12:50 PM IST
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अपना पहला बजट पेश कर रही हैं. निर्मला सीतारमण ने खास तरीके से बजट भाषण की शुरुआत की. उन्होंने एक शेर की दो लाइनें पढ़ी, जो इस प्रकार हैं- यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता है, हवा की ओट लेकर भी चिराग जलता है.

बता दें कि यह शेर शायर मंजूर हाशमी का है. यहां पढ़िए पूरा शेर

यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता है
हवा की ओट भी लेकर चिराग जलता है

सफर में अब के ये तुम थे कि खुश गुमानी थी
यही लगा कि कोई साथ-साथ चलता है
गिलाफ-ए-गुल में कभी चांदनी के पर्दे में
Loading...

सुना है भेष बदलकर भी वो निकलता है
लिखूं वो नाम तो कागज़ पे फूल खिलते हैं
करूं खयाल तो पैकर किसी का ढलता है
रावण दावन है उधर ही तमाम खल्क-ए-खुदा
वो खुश खिराम जिधर सैर को निकलता है

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शुक्रवार को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश कर रही हैं. अपने पहले बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सभी सेक्टर्स को खुश करने की पूरी कोशिश करती दिखाई दे रही हैं.

बजट की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा कि हालिया लोकसभा चुनाव नए भारत के लिए था. इस साल अर्थव्यवस्था 3 ट्रिलिनयन डॉलर की हो जाएगी, जिसे पाने के लिए जनभागीदारी जरूरी है. बता दें कि बजट भाषण सुनने के लिए वित्त मंत्री के माता-पिता भी संसद भवन पहुंचे हैं.

ये भी पढ़ें: क्यों लाल सूटकेस में रखा जाता था बजट, जानिए पूरा इतिहास

ये भी पढ़ें: जब बजट देखने संसद पहुंचे निर्मला सीतारमण के माता-पिता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 12:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...