अच्छी खबर: 48 घंटे बाद केंद्र सरकार का ये ऑफिस सामान्य तरीके से करने लगेगा काम

अच्छी खबर: 48 घंटे बाद केंद्र सरकार का ये ऑफिस सामान्य तरीके से करने लगेगा काम
48 घंटे बाद नीति भवन सामान्य तरीके से करने लगेगा काम (फाइल फोटो)

देश में 24 घंटे में कोरोना वायरस (Coronavirus) से 51 लोगों की मौत हो गई जबकि 1594 नए केस सामने आए. जिसके बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 29,974 हो गई है. इसमें से 22010 एक्टिव केस (Active Case) हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2020, 9:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नीति आयोग (NITI Aayog) ने बताया है कि नीति आयोग के सभी अधिकारी काम कर रहे हैं, उपलब्ध हैं. नीति आयोग ने ट्वीट (Tweet) के जरिए दी इस जानकारी में यह भी बताया कि ये सभी अधिकारी (Officers) घर से काम कर रहे हैं.

ट्वीट में यह जानकारी भी दी गई है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) के प्रोटोकॉल (Protocol) के मुताबिक 48 घंटे के बाद नीति भवन सामान्य तरीके से काम करने लगेगा.

48 घंटे बाद सामान्य तरीके से काम करना शुरू कर देगा नीति भवन: नीति आयोग
नीति आयोग की ओर से किए गए ट्वीट (Tweet) में लिखा गया था- "नीति आयोग के सभी अधिकारी काम कर रहे हैं, उपलब्ध हैं और वर्तमान में घरों से काम कर रहे हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रोटोकॉल के मुताबिक, नीति भवन (NITI Bhavan) 48 घंटों के बाद सामान्य तरीके से अपना काम शुरू कर देगा."





कोरोना के मामले दोगुने होने की दर 10.2 दिन
स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 (Covid-19) के मामले दोगुने होने की दर अब 10.2 दिन है. बीते 28 दिनों से 17 जिलों में कोरोना वायरस का कोई भी नया मामला नहीं आया. देश में 24 घंटे में कोरोना वायरस से 51 लोगों की मौत हो गई जबकि 1594 नए केस सामने आए. जिसके बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 29,974 हो गई है. इसमें से 22010 एक्टिव केस (Active Case) हैं.

देश में एक दिन में 684 लोग ठीक हुए. अब तक देश में कुल 7027 ठीक हो चुके हैं. जिसके चलते रिकवरी रेट (Recovery Rate) बढ़कर 23.3 प्रतिशत हो गया है. अब तक 937 लोगों की मौत हो चुकी है.

एंटीबॉडी जांच किट के सही परिणाम नहीं मिले: स्वास्थ्य मंत्रालय
स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण (Coronavirus Infection) का पता लगाने के लिए चीन से आयात की गयी त्वरित एंटीबॉडी जांच किट (Rapid Antibody Test Kit) से सटीक परिणाम नहीं मिलने पर, आपूर्तिकर्ता कंपनियों के विरुद्ध करार के मुताबिक कार्रवाई की गयी है.

यह भी पढ़ें: प्लाज्मा थेरेपी कोरोना का कोई निश्चित उपचार नहीं, खतरे में भी पड़ सकती है जान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading