New Motor Vehicle Act: नितिन गडकरी बोले- राज्‍य चाहें तो जुर्माना घटा दें, लेकिन...

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 7:37 AM IST
New Motor Vehicle Act: नितिन गडकरी बोले- राज्‍य चाहें तो जुर्माना घटा दें, लेकिन...
केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को कहा कि जो भी राज्य नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद जुर्माने की रकम करना चाहते हैं उन्हें उससे कोई आपत्ति नहीं है.

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने मंगलवार को कहा कि जो भी राज्य नया मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle Act) लागू होने के बाद जुर्माने की रकम कम करना चाहते हैं उन्हें उससे कोई आपत्ति नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2019, 7:37 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने मंगलवार को कहा कि जो भी राज्य नया मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle Act) लागू होने के बाद जुर्माने की रकम कम करना चाहते हैं उन्हें उससे कोई आपत्ति नहीं है. गडकरी ने न्यूज़18 से एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा कि ये कड़े जुर्माने सड़क दुर्घटनाओं को कम करने और ज्यादा से ज्यादा लोगों की जान बचाने के लिए लगाए गए हैं. इस जुर्माने का उद्देश्‍य रेवेन्‍यू बढ़ाना नहीं है, बल्कि लोगों की सुरक्षा है.

गडकरी का ये बयान ऐसे समय आया है जब गुजरात सरकार (Gujarat Government) ने एक दिन पहले ही नए मोटर व्हीकल एक्ट के जुर्माने को कम करने की घोषणा की है. उन्होंने कहा कि 1 सितंबर से नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हो गया है अब इसे लेकर राज्य फैसला करें कि वह इसे लेकर क्या करते हैं.

गडकरी बोले- डरने की ज़रूरत नहीं
गडकरी ने ये भी कहा कि जो लोग नियम-कानून का उल्लंघन नहीं करते हैं उन्‍हें डरने की ज़रूरत नहीं है. उन्हें कुछ भी देने की ज़रूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि यही समय है जब लोगों को इस कानून को समझना चाहिए. क्योंकि हमारे देश में रोड एक्सीडेंट में सबसे ज्यादा मौतें होती हैं.

मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम 2019 के लागू होने के बाद जो नए नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं उन पर ट्रैफिक पुलिस कड़ी निगरानी रख रही है. इसे लेकर विभिन्न राज्य सरकार या तो विरोध कर रही हैं या जुर्माने की रकम में बदलाव ला रही हैं.

कानून को हल्के में ले रहे थे लोग
1 सितंबर से मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम 2019 के लागू होने के बाद, पुलिस द्वारा यातायात नियमों के उल्लंघन के लिए भारी चालान सुर्खियों में बना हुआ है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि कड़े नियमों की बहुत जरूरत थी क्योंकि लोगों ने ट्रैफिक कानूनों को बहुत हल्के में लिया था. लोगों के मन में न तो इसे लेकर कोई डर था और न ही कानून का सम्मान था.
Loading...

गुजरात सरकार द्वारा नए मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम, 2019 के तहत किए गए परिवर्तन इस प्रकार हैं:

- गुजरात में नए ठीक स्ट्रक्चर का हेलमेट नहीं पहनने पर जुर्माने की रकम को 500 रुपये कर दिया है. एमवी एक्ट के तहत ये रकम 1000 रुपये है.

-सीट बेल्ट नहीं पहनने पर 1000 रुपये की जगह 500 रुपये का जुर्माना लगेगा.

- गुजरात में बिना ड्राइविंग लाइसेंस के वाहन चलाने पर दोपहिया वाहनों के लिए 2000 रुपये का जुर्माना और बाकी के लिए 3000 रुपये का जुर्माना लगेगा. जबकि नए नियम के तहत इसे 5000 रुपये कर दिया गया है.

- अगर लाइसेंस, बीमा, पीयूसी, आरसी बुक नहीं है, तो जुर्माना नए मोटर वाहन अधिनियम के अनुसार होगा. इसमें पहली बार 500 रुपये का जुर्माना और दूसरी बार जुर्माना 1000 रुपये होगा.

- ट्रिपल राइडिंग के लिए, एमवी एक्ट में 1000 रुपये जुर्माना है जिसे बदलकर 100 रुपये कर दिया गया है.

- नए एमवी एक्ट के तहत प्रदूषण वाले वाहन चलाने पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगता है, जबकि गुजरात में यह छोटे वाहनों के लिए 1000 रुपये और बड़े वाहनों के लिए 3000 रुपये होगा.

ये भी पढ़ें-
ट्रैफिक चालान में कटौती करने के मूड में केजरीवाल सरकार, जल्द लेगी फैसला

जानिए कहां जमा होता है ट्रैफिक चालान का पैसा, अब तक कितने की हुई 'वसूली'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 7:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...