आर्थिक सुस्ती पर बोले नितिन गडकरी- मुश्किल वक्त है बीत जाएगा

आर्थिक सुस्ती पर बोले नितिन गडकरी- मुश्किल वक्त है बीत जाएगा
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने नागपुर में कहा कि इकॉनमी में सुस्ती का मुश्किल वक्त बीत जाएगा.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने शनिवार को इकॉनमी (Economy) में सुस्ती पर अपनी राय रखी है. उन्होंने इसे बुरा वक्त बताया और कहा कि यह मुश्किल वक्त भी बीत जाएगा. उन्होंने ऑटोमोबाइल सेक्टर (Automobile Sector) को चिंता नहीं करने की सलाह दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2019, 8:15 AM IST
  • Share this:
नागपुर. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने शनिवार को इकॉनमी (Economy) में सुस्ती पर अपनी राय रखी है. उन्होंने इसे बुरा वक्त बताया और कहा कि यह मुश्किल वक्त भी बीत जाएगा. उन्होंने ऑटोमोबाइल सेक्टर (Automobile Sector) को चिंता नहीं करने की सलाह दी. गडकरी विदर्भ उद्योग संघ के 65वें स्थापना दिवस में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि उद्यमियों को परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि मुश्किल समय गुजर जाएगा. गडकरी ने आगे कहा, ‘मुझे पता है कि उद्योग बहुत मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं. हम आर्थिक वृद्धि दर बढ़ाना चाहते हैं.’ उन्हों

यही जीवन चक्र है
नितिन गडकरी ने कहा कि हाल ही में वे ऑटोमोबाइल उद्यमियों से मिले थे जो मांग कम होने और इकॉनमी में सुस्ती से चिंता में थे. इस पर उन्होंने उद्यमियों को राय दी थी. गडकरी ने कहा, 'मैंने उनसे कहा कि कभी खुशी होती है, कभी गम होता है. कभी आप सफल होते हैं और कभी आप असफल होते हैं. यही जीवन चक्र है.' गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों से ऑटो सेक्टर की वृद्धि दर बहुत धीमी है. इसके वजह से कारों और बाइकों की बिक्री में कमी आई है.

वित्त मंत्री ने किया 10 हजार करोड़ का फंड देने का ऐलान



इससे पहले शनिवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाउसिंग सेक्टर के लिए कई बड़े ऐलान किए. वित्त मंत्री ने इस सेक्टर को रफ्तार देने के लिए सरकार की ओर से 10 हजार करोड़ रुपये का फंड देने का ऐलान किया. वित्त मंत्री ने 60 प्रतिशत तक पूरे हो गए प्रोजेक्ट को यह फंड देने की घोषणा की है. हालांकि इसमें शर्त यह होगी वह प्रॉजेक्ट एनपीए न हो. वित्त मंत्री ने कहा कि इससे 3.5 लाख घर खरीदारों को फायदा मिलेगा.



फंड देने के लिए सरकार ने रखीं ये शर्तें
अफोर्डेबल, मिडिल इनकम हाउसिंग के लिए सरकार 10 हजार करोड़ रुपए देगी. इतना ही नहीं फंड बाहर से लगाया जाएगा. सरकार के अलावा निवेशक भी पैसा लगाएंगे. हालांकि यह पैसा उन्हीं प्रॉजेक्ट को मिलेगा जिनका काम 60 फीसदी तक पूरा हो चुका हो और वह NPA न हो.

बनाई जाएगी स्पेशल विंडो
घर खरीदने के लिए जरूरी फंड के लिए स्पेशल विंडो बनाई जाएगी. इसमें एक्सपर्ट लोग काम करेंगे. लोगों को घर लेने में आसानी होगी और आसानी से लोन लिया जा सकेगा. एक्सटर्नल कमर्शल गाइडलाइन फॉर अफोर्डेबल हाउजिंग में राहत दी जाएगी. वित्त मंत्री ने कहा कि बजट में इसके लिए कई कदम उठाए जा चुके हैं. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 1.95 करोड़ लोगों को फायदा हुआ है.

45 लाख के घरों को अफोर्डेबल स्कीम में डालने का फायदा
वित्त मंत्री ने कहा कि बजट में कई कदम उठाए जा चुके हैं. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 1.95 करोड़ लोगों को फायदा हुआ है. 45 लाख कीमत के घरों को अफोर्डेबल स्कीम में डालने का फायदा मिला है. क्षेत्र की कई कंपनियों ने इस योजना की तारीफ की है. सरकार ऐसे घरों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है. अफोर्डेबेल हाउसिंग को बढ़ावा देने के लिए सरकार ईसीबी गाइडलाइंस में कई सुधार करेगी.

ये भी पढ़ें -

बालाकोट में भारतीय सैनिकों ने जान पर खेलकर स्कूली बच्चों को बचाया

सेना की इमरान खान को चेतावनी, LoC पर नागरिकों को ढाल न बनाएं, मारे गए तो हम जिम्मेदार नहीं
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading