गडकरी की अधिकारियों को चेतावनी, समस्याओं का समाधान करो वरना लोगों से धुलाई करने के लिए कहूंगा

भाषा
Updated: August 17, 2019, 10:43 PM IST
गडकरी की अधिकारियों को चेतावनी, समस्याओं का समाधान करो वरना लोगों से धुलाई करने के लिए कहूंगा
गडकरी की अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि समस्याओं का समाधान करो वरना लोगों से धुलाई करने के लिए कहूंगा.

नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कहा कि मैंने अधिकारियों को बताया कि आप इस समस्या को आठ दिनों में सुलझाइये, अन्यथा मैं लोगों से कहूंगा कि धुलाई करो.

  • Share this:
लाल फीताशाही पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने शनिवार को कहा कि उन्होंने कुछ अधिकारियों को आज आगाह किया कि यदि चंद मुद्दों का समाधान नहीं किया गया तो वह लोगों से कहेंगे कि 'धुलाई करो'.

केंद्रीय मंत्री एमएसएमई सेक्टर (MSME Sector) में काम कर रहे संघ से जुड़े संगठन लघु उद्योग भारती के एक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. गडकरी के पास सड़क परिवहन, सुक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विभाग की जिम्मेदारी है.

सम्मेलन में शामिल उद्यमियों से गडकरी ने निडर होकर उनके कारोबार का विस्तार करने की बात की. वह इस बात पर भी बोले कि किस तरह सरकारी अधिकारियों द्वारा कारोबारियों को परेशान किया जा रहा है.

मेरी जवाबदेही लोगों के प्रति है- गडकरी

नागपुर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले गडकरी ने कहा, "हमारे यहां लाल फीताशाही क्यों है, क्यों ये निरीक्षक आते हैं और 'हफ्ता' लेते हैं. मैंने उन्हें उनके मुंह पर कहा, आप (सरकारी) नौकर हैं, मैं लोगों द्वारा निर्वाचित हूं. मेरी जवाबदेही लोगों के प्रति है. अगर आप चोरी करेंगे, मैं कहूंगा कि आप चोर हैं."

उन्होंन कहा, "आज मैंने यहां आरटीओ दफ्तर में एक बैठक की. निदेशक और परिवहन आयुक्त ने इसमें हिस्सा लिया."

अन्यथा लोगों से कहूंगा धुलाई करो
Loading...

गडकरी ने कहा, "मैंने उन्हें बताया, आप इस समस्या को आठ दिनों में सुलझाइये, अन्यथा मैं लोगों से कहूंगा कि धुलाई करो. मेरे गुरु में मुझे यह सिखाया- ऐसी व्यवस्था को परे हटाओ जो न्याय न देती हो."

अपने मुखर बयानों के लिये चर्चा में रहने वाले मंत्री ने यह नहीं बताया कि वह किस समस्या के संदर्भ में यह बात कह रहे थे.

ये भी पढ़ें: बॉम्बे HC ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और EC को भेजा नोटिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 17, 2019, 10:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...