लाइव टीवी

नागपुर लोकसभा नतीजे: गडकरी ने दूसरी बार किया किला फतह

News18Hindi
Updated: May 23, 2019, 9:49 PM IST
नागपुर लोकसभा नतीजे: गडकरी ने दूसरी बार किया किला फतह
नितिन गडकरी

भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बड़े अंतर से कांग्रेस प्रत्याशी को शिकस्त देकर अपना वर्चस्व साबित किया.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव 2019 में महाराष्ट्र की हाई प्रोफाइल सीट नागपुर से केंद्रीय मंत्री और भाजपा के दिग्गज नेता नितिन गडकरी ने फिर जीत दर्ज की है. नागपुर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार नाना पटोले को करीब दो लाख वोटों से शिकस्त देकर बाज़ी मारी. 23 मई को जारी मतगणना के दौरान रुझानों में गडकरी बढ़त लेते हुए दिखते रहे.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी नागपुर लोकसभा सीट से पिछली बार भी लोकसभा चुनाव जीते थे. संघ का गढ़ माने जाने वाले नागपुर में ही संघ का मुख्यालय है, लेकिन एक दिलचस्प तथ्य यह है कि यहां सबसे अधिक चुनाव कांग्रेस ने जीते हैं. इस बार कांग्रेस ने गडकरी के मुकाबले में नाना पटोले को चुनाव मैदान में उतारा था. वहीं ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रत्याशी के तौर पर अब्दुल करीम और बसपा के प्रत्याशी के तौर पर मोहम्मद जमाल मैदान में थे.

गडकरी की जीत के कारण
नागपुर आरएसएस का मुख्यालय है और यहां संघ के प्रभाव के कारण भाजपा को राजनीतिक लाभ स्वाभाविक तौर पर मिलता है. इसके अलावा भाजपा के बड़े चेहरों और केंद्रीय मंत्रियों में गडकरी शुमार रहे हैं. स्थानीय नेता के तौर पर नागपुर में उनकी छवि 'विकास पुरुष' की रही है.

पिछली बार यानी 2014 में गडकरी नागपुर से पहली बार चुनाव लड़े थे और तब भी उन्हें भारी समर्थन मिला था. नागपुर की आबादी के लिहाज़ से यहां सवर्णों और दलितों की आबादी ज़्यादा है लेकिन यहां प्रभावशाली सवर्ण समुदाय है. कहा जा सकता है कि इसका सीधा फायदा भाजपा को मिला. दूसरी ओर, गडकरी के प्रतिद्वंदी पटोले ने खैरलांजी दलित हत्याकांड को लेकर जो टिप्पणी की थी, उसके कारण वह विवादों में रहे और माना जा रहा है कि इसी कारण दलित समुदाय उनसे नाराज था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2019, 9:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर