Bihar Chunav: समर्थक का खून से सना हाथ देख बोले चिराग-जान का खतरा न उठाएं, नीतीश का भांडा फोड़ें

10 नवंबर के बाद नीतीश कुमार बिहार के मुख्‍यमंत्री नहीं रहेंगे- चिराग पासवान
10 नवंबर के बाद नीतीश कुमार बिहार के मुख्‍यमंत्री नहीं रहेंगे- चिराग पासवान

Bihar Election: बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान लोजपा प्रमुख चिराग पासवान (Chirag Paswan) प्रदेश के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ( Nitish Kumar) पर जमकर हमला बोल रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2020, 4:59 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के दूसरे चरण के तहत प्रदेश के 17 जिलों की 94 विधानसभा सीटों पर मतदान चल रहा है. जबकि दोपहर 3 बजे तक 44.51% मतदान हुआ है. इस चरण में करीब 2.85 करोड़ मतदाता चुनाव मैदान में उतरे 1500 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे. इस बीच लोजपा प्रमुख चिराग पासवान (Chirag Paswan) के एक समर्थक ने सोशल मीडिया पर अपने हाथ पर पर खून से लिखकर उनका समर्थन जाहिर किया है. इसको लेकर बिहार के युवा नेता ने कहा कि सभी समर्थकों से अपील है की इस प्रकार का कोई काम ना करें जिससे आप को तकलीफ हो और जान जाने का भी ख़तरा हो. अगर मेरे लिए या बिहार के कुछ करना है तो सभी माताओं बहनोंं को मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ( Nitish Kumar) के घटिया 15 साल के बारें जागरूक करें. साथ ही लोगों को ये भी बताएं कि बिहार में बीए की डिग्री 5 साल में मिलती है.

इससे पहले चिराग ने कहा था किआप मुझसे लिखित में ले सकते हैं कि 10 नवंबर के बाद नीतीश कुमार फिर कभी मुख्यमंत्री नहीं बन पाएंगे. मेरी कोई भूमिका नहीं होगी, मुझे 'बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट' चाहिए. मैं चाहता हूं कि चार लाख बिहारियों के सुझावों द्वारा तैयार किये गये विज़न डॉक्यूमेंट के आधार पर काम हो.'


तेजस्‍वी समेत इनकी किस्‍मत दांव पर
आपको बता दें कि 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा की एक तिहाई सीटों पर इस चरण में मतदान चल रहा है और ये 94 विधानसभा सीटें 17 जिलों में स्थित हैं. इस चरण में जिन प्रमुख उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा उनमें राजद के तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) शामिल हैं. तेजस्वी विपक्षी महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी हैं. तेजस्वी यादव (31) वैशाली जिले की राघोपुर विधानसभा सीट से दूसरी बार जीत दर्ज करने के लिए चुनाव मैदान में हैं. उन्होंने 2015 में भाजपा के सतीश कुमार को हराकर यह सीट फिर अपनी पार्टी के लिए जीती थी. सतीश ने 2010 में इस सीट पर यादव की मां और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को हराया था. यही नहीं, भाजपा ने इस बार भी सतीश कुमार को ही यादव के खिलाफ मैदान में उतारा है. वहीं, तेजस्वी के बड़े भाई तेजप्रताप यादव हसनपुर से राजद प्रमुख लालू प्रसाद के समधी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जदयू के टिकट पर परसा से चुनावी मैदान में हैं.



इसके अलावा चुनाव में नीतीश सरकार के पथ निर्माण मंत्री और भाजपा विधायक नंदकिशोर यादव (पटना साहिब), जदयू विधायक और ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार (नालंदा), भाजपा विधायक और सहकारिता मंत्री राणा रणधीर सिंह (मधुबन) और जदयू नेता और राज्य मंत्री रामसेवक सिंह (हथुआ) से चुनावी मैदान में हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज