लाइव टीवी

Opinion| कोई साहसिक सुधार न भी दिखे तो भी सीतारमण का बजट कोई नुकसान नहीं करेगा

News18Hindi
Updated: February 2, 2020, 7:49 AM IST
Opinion| कोई साहसिक सुधार न भी दिखे तो भी सीतारमण का बजट कोई नुकसान नहीं करेगा
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री (Finance Minister) के पास खर्च बढ़ाने का विकल्प था लेकिन वे इसके लालच से बचीं. जबकि इस वित्त वर्ष लिए अगले वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटे (Fiscal deficit) का लक्ष्य बढ़ा हुआ है लेकिन वे खर्च की होड़ में नहीं गईं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 2, 2020, 7:49 AM IST
  • Share this:
(रवि शंकर कपूर)

अर्थव्यवस्था (Economy) जिस बुरे दौर से गुजर रही है और जिस पॉपुलर माइंडसेट से पूरा राजनीतिक वर्ग ग्रसित होता है उसे ध्यान में रखें तो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने एक ऐसा बजट (Budget) पेश किया है, जिसे बुरा नहीं कहा जा सकता है. इस समय उस बजट को भी अच्छा कहा जा सकता है, जो नुकसान न पहुंचाए.

उन्होंने अपने भाषण में कहा, मार्च 2019 में केंद्र सरकार का कर्ज (central government debt) घटकर GDP का 48.7% हो गया है, जो मार्च, 2014 में 52.2% था." RBI के आंकड़ों से पता चलता है कि 2019-20 में मंदी के बावजूद, सरकारी कर्ज से GDP अनुपात 50% को पार करने की उम्मीद नहीं है.

इसका मतलब है कि वित्त मंत्री (Finance Minister) के पास खर्च बढ़ाने का विकल्प था लेकिन वे इसके लालच से बचीं. जबकि इस वित्त वर्ष और लिए अगले वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटे का लक्ष्य बढ़ा हुआ है लेकिन वे खर्च की होड़ में नहीं गईं.

राजकोषीय घाटे को 2019-20 के लिए 3.4% से बढ़ाकर 3.8% कर दिया गया है. और इसे 2020-21 के लिए बढ़ाकर 3.5% कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि दोनों ही वित्तीय वर्षों के लिए लक्षित बदलाव राजकोषीय जिम्मेदारी और बजट प्रबंधन अधिनियम के अनुरूप हैं. उन्होंने कहा, "यह अनुमान सरकार के मैक्रोइकॉनमिक स्थिरता (macroeconomic stability) के प्रति प्रतिबद्धता के अनुरूप है."

यह अधिनियम "अनिश्चित राजकोषीय प्रभावों के साथ अर्थव्यवस्था में संरचनात्मक सुधारों (structural reforms) के कारण अनुमानित राजकोषीय घाटे से विचलन के लिए एक ट्रिगर मैकेनिज्म बनाता है. जिसकी वजह से मैंने 0.5% का विचलन किया है."

पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंडिस्क्लेमर: लेखक एक फ्रीलांस पत्रकार हैं. व्यक्त किए गए विचार उनके निजी हैं.

ये भी पढ़ें: 

किसानों को पद्मश्री, पीएम-किसान सम्मान निधि स्कीम और पेंशन योजना के लिए याद किया जाएगा 2019

आप भी लीजिए मोदी सरकार की इस स्कीम का फायदा, देना पड़ेगा सिर्फ 20%, जानिए इसके बारे में सबकुछ!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2020, 11:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर