सरकार ने बताया, 'नौकरियों की कोई कमी नहीं, लोग खोज रहे हैं सरकारी नौकरियां'

श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने कहा है कि करीब 10-12 फीसदी सरकारी पद हर साल खाली हो रहे हैं और उन्हें भरने की प्रक्रिया जारी है.

News18Hindi
Updated: July 4, 2019, 5:47 PM IST
सरकार ने बताया, 'नौकरियों की कोई कमी नहीं, लोग खोज रहे हैं सरकारी नौकरियां'
संतोष कुमार गंगवार लोकसभा में राजद के मनोज कुमार झा के सवाल का जवाब दे रहे थे (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 4, 2019, 5:47 PM IST
केंद्र सरकार ने बुधवार को इंटरनेशनल लेबर ऑर्गनाइजेशन (ILO) की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि दुनिया भर में सबसे कम बेरोजगारी दर भारत में है. यह चीन और एशिया-पैसेफिक से भी कम है.

श्रम और रोजगार मंत्री संतोष कुमार गंगवार ने राज्यसभा में कहा कि ILO की रिपोर्ट के अनुसार भारत में बेरोजगारी दर मात्र 3.5% है. जबकि चीन में बेरोजगारी दर 4.7% और एशिया-पैसेफिक में बेरोजगारी की दर 4.2% है.

दूसरे देशों के मुकाबले भारत में बहुत कम है बेरोजगारी दर
प्रश्न काल के दौरान बोलते हुए संतोष कुमार गंगवार ने इन आंकड़ों को सामने रखा और कहा कि आम चुनाव से पहले बेरोजगारी को लेकर जो आंकड़े बताए गए थे वे सही नहीं थे. श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने कहा. "ILO के आंकड़ों के मुताबिक भारत में दुनिया में सबसे कम बेरोजगारी दर है... भारत की स्थिति दूसरे देशों से ज्यादा अच्छी है, लेकिन हम इससे संतुष्ट नहीं हैं."

देश में ज्यादा लोग खोज रहे स्थायी नौकरियां
श्रम एवं रोजगार मंत्री राष्ट्रीय जनता दल के सांसद मनोज कुमार झा के सवाल के जवाब में यह बातें बता रहे थे. मनोज कुमार झा ने कहा था कि देश के असंगठित क्षेत्र में रोजगार की स्थिति तेजी से खराब हुई है. श्रम एवं रोजगार मंत्री ने कहा, हमारे पास असंगठित क्षेत्र में रोजगार की स्थिति में गिरावट आने की कोई जानकारी नहीं है. गंगवार ने कहा कि प्रधानमंत्री सुधारों की बात करते हैं. देश में नौकरियों में कोई गिरावट नहीं है लेकिन लोग ज्यादा स्थायी और सरकारी नौकरियां चाहते हैं.

करीब 10-12 फीसदी सरकारी पद हर साल हो रहे खाली
Loading...

उन्होंने बताया कि संगठित क्षेत्र में, हर साल 1 करोड़ नए रोजगारों का सृजन हो रहा है. केवल UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) और SSE के जरिये पिछले पांच सालों में 2,45,470 लोगों को रोजगार दिया गया है.

करीब 10-12 फीसदी सरकारी पद हर साल खाली हो रहे हैं और उन्हें भरने की प्रक्रिया जारी है. उन्होंने बताया कि इस प्रक्रिया में जॉब ऑफर करने में 1 साल लगता है. इसके अलावा, सरकार पदों को भरने के लिए एजेंसियां भी नियुक्त कर रही है. हमारा प्रयास रहता है कि हम समय-समय पर नियुक्तियों के बारे में जानकारी देते रहें.

यह भी पढ़ें: न्यूनतम वेतन पर सरकार का बड़ा फैसला, जानें क्या है वेज कोड?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2019, 4:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...