महात्मा गांधी के पड़पोते बोले- अनुच्छेद 370 हटाने में नहीं अपनाई गई लोकतांत्रिक प्रक्रिया

तुषार गांधी ने कहा किअगर कश्मीर के लोग भी ऐसा ही चाहते थे तो वहां भारी संख्या में सैन्य बल क्यों तैनात किया गया. देश में लोकतंत्र को दबाया जा रहा है.’

भाषा
Updated: August 9, 2019, 6:01 PM IST
महात्मा गांधी के पड़पोते बोले- अनुच्छेद 370 हटाने में नहीं अपनाई गई लोकतांत्रिक प्रक्रिया
तुषार गांधी ने कहा, अनुच्छेद 370 हटाने में लोकतांत्रिक प्रक्रिया नहीं अपनाई गई
भाषा
Updated: August 9, 2019, 6:01 PM IST
जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने पर महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के प्रपौत्र तुषार गांधी ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है. तुषार ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के लिए जो प्रक्रिया अपनाई वह अलोकतांत्रिक है. उन्होंने कहा कि इसमें किसी लोकतांत्रिक प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया.

गांधी फाउंडेशन के अध्यक्ष तुषार गांधी ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, ‘ अनुच्छेद 370 को हटाने में किसी तरह की लोकतांत्रिक प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया. अगर कश्मीर के लोग भी ऐसा ही चाहते थे तो वहां भारी संख्या में सैन्य बल क्यों तैनात किया गया. देश में लोकतंत्र को दबाया जा रहा है.’

उन्होंने यह भी कहा कि धर्म का इस्तेमाल लोगों को प्रताड़ित करने के लिए किया जा रहा है. धार्मिक असहिष्णुता का जिक्र करते हुए गांधी ने कहा कि 'जय श्रीराम के नाम पर लोगों को डराया जाता है. इसमें कहां से भक्ति आयी. वह राम ही थे जिन्हें पुरुषोत्तम के नाम से जाना जाता है और जो सत्ता का त्याग कर, ऐश्वर्य छोड़कर जंगल में वनवास को चले गए. आज उन्हीं की जन्मभूमि या भक्ति के नाम पर कितना खून बहाया जा रहा हैं लेकिन हम बैठे हैं चुपचाप, कुछ नहीं करते.’

‘देश में कुछ तबके आजादी महसूस नहीं करते’

तुषार गांधी ने कहा कि धार्मिक असहिष्णुता तो बापू महात्मा गांधी के समय से ही थी. उन्होंने कहा कि सत्ता की हवस के कारण देश का बंटवारा हुआ लेकिन धार्मिक असहिष्णुता भी थी. तुषार गांधी ने कहा कि आजादी की इतनी सदियों के बाद भी समाज के कुछ तबके खुद को आजाद महसूस नहीं करते. उन्होंने कहा,‘‘इतने साल के बाद भी पूर्ण स्वराज को पाने की कोशिश नहीं की गयी इसलिए समाज के अनेक तबके किसी ने किसी तरह की गुलामी में सड़ रहे हैं.’

आजादी का उल्लंघन कर रही है सरकार
उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था संकट में है, कोई नया निवेश आ नहीं रहा और न ही नये रोजगार सृजित हो रहे हैं. तुषार गांधी ने कहा कि सरकार ने सूचना के अधिकार कानून को कमजोर किया है, लोगों की आजादी का उल्लंघन हो रहा है लेकिन लोग चुप्पी मारे बैठे हैं जो कि गंभीर चिंता की बात है. तुषार ने कहा कि किसी कारोबारी की आत्महत्या पर तो देश भर में बहस एवं चर्चा हो जाती है लेकिन किसी किसान की आत्महत्या पर कोई आंसू नहीं बहाता.
Loading...

ये भी पढ़ें- आर्टिकल 370 हटने से इस समुदाय में जगी न्याय की उम्मीद, 62 साल से झेल रहा था यातनाएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 6:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...