लाइव टीवी

दिल्ली चुनावों में बड़े नेता नहीं आए काम, दहाई के आंकड़े तक नहीं पहुंच पाई BJP

News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 11:52 PM IST
दिल्ली चुनावों में बड़े नेता नहीं आए काम, दहाई के आंकड़े तक नहीं पहुंच पाई BJP
दिल्ली विधानसभा चुनावों में गृहमंत्री अमित शाह ने डोर टू डोर कैंपेन भी किया था. फोटो.पीटीआई

दिल्ली (Delhi assembly election) में फिर से आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) की मिली प्रचंड जीत ने बीजेपी की रणनीति पर सवाल खड़े कर दिए हैं. दिल्ली में बीजेपी (Delhi BJP) के सभी बड़े नेताओं ने प्रचार किया, आक्रामक प्रचार के बावजूद बीजेपी दहाई के अंक को पार नहीं कर सकी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 11:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi assembly election) में फिर से आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) की मिली प्रचंड जीत ने बीजेपी की रणनीति पर सवाल खड़े कर दिए हैं. दिल्ली में बीजेपी (Delhi BJP) के सभी बड़े नेताओं ने प्रचार किया, आक्रामक प्रचार के बावजूद बीजेपी दहाई के अंक को पार नहीं कर सकी. 2015 में बीजेपी ने 3 सीटें जीती थीं, तो इस बार पार्टी 8 सीटों तक पहुंच गई. आप के मुकाबले वह काफी पिछड़ गई. दिल्ली चुनावों में पीएम मोदी (PM Modi) ने दो जनसभाएं कीं. गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने करीब 50 आम सभा और रोड शो किए. उन्होंने डोर टू डोर कैंपेन भी किया. पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने 30 आम सभाएं कीं. इसके अलावा कई और मंत्री और मुख्यमंत्रियों ने कैंपेन की.

बीजेपी के इतने आक्रामक प्रचार के बावजूद उसे हार का सामना करना पड़ा. आप को 62 सीटें मिलीं और उसे दिल्ली में 54 फीसदी वोट मिले. 2015 के मुकाबले बीजेपी का वोट शेयर 32 से बढ़कर 38 तक पहुंचा, लेकिन इससे उसकी सीटें ज्यादा नहीं बढ़ीं. बीजेपी को सिर्फ 8 सीटों पर जीत मिली. इस बार के चुनाव में भी कांग्रेस अपना खाता नहीं खोल सकी. सबसे शर्मनाक बात तो यह रही कि उसकी 67 सीटों पर जमानत जब्त हो गई.

पीएम मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा के अलावा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने 25 से ज्यादा रैलियों को संबोधित किया. राजनाथ सिंह ने 12 और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने 10 रैलियों को संबोधित किया.

योगी की रैलियों से भी नहीं मिला फायदा

मुख्यमंत्रियों की बात करें तो बीजेपी के फायरब्रांड नेता और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली में 15 रैलियों को संबोधित किया. हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर, उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी कई रैलियों को संबोधित किया. मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी दिल्ली में पार्टी के लिए कैंपेन किया.

दिल्ली के नेताओं में सबसे आगे दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी रहे. उन्होंने 70 से ज्यादा रैलियां कीं. वहीं बीजेपी के 200 से ज्यादा सांसदों ने ने पार्टी के लिए कैंपेन किया.

40 स्टार कैंपेनर थे बीजेपी के विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने 40 नेताओं को स्टार कैंपेनर का दर्जा दिया था. बाद में विवादित बयान देने के कारण चुनाव आयोग ने प्रवेश वर्मा और अनुराग ठाकुर का दर्जा खत्म कर दिया था.

यह भी पढ़ें....

आप के इन पांच सिपहसालारों ने केजरीवाल को दिलाई जीत की हैट्रिक

तीसरी बार सत्ता मिलते ही AAP ने किया 2014 की तरह राष्ट्रीय राजनीति का इशारा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 10:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर