Home /News /nation /

जब हाईकोर्ट जज ने कहा- तारीख पे तारीख अब और नहीं

जब हाईकोर्ट जज ने कहा- तारीख पे तारीख अब और नहीं

बॉम्बे हाईकोर्ट (फाइल फोटो)

बॉम्बे हाईकोर्ट (फाइल फोटो)

जस्टिस गौतम पटेल ने पिछले हफ्ते आदेश पारित करते हुए राम नगर ट्रस्ट को मामले में 450 दिन की देरी के लिए हर दिन के एक हजार रुपये के हिसाब से कुल साढ़े चार लाख रुपये दूसरे पक्ष को देने के निर्देश दिए.

    बंबई हाईकोर्ट ने एक मामले की सुनवाई को और ज्यादा टाल से इनकार करते हुए कहा, 'तारीख पे तारीख अब और नहीं चलेगा. अब बस बहुत हो गया.' हाईकोर्ट ने वर्ष 2016 से एक हलफनामा दायर नहीं करने को लेकर एक पब्लिक चैरिटी संस्था पर साढ़े चार लाख रुपये का जुर्माना लगाया.

    जस्टिस गौतम पटेल ने पिछले हफ्ते आदेश पारित करते हुए राम नगर ट्रस्ट को वर्ष 2009 में ट्रस्ट द्वारा दायर मामले में 450 दिन की देरी के लिए हर दिन के एक हजार रुपये के हिसाब से कुल साढ़े चार लाख रुपये दूसरे पक्ष को देने के निर्देश दिए.

    अदालत ने कहा कि सितंबर 2016 में हाईकोर्ट ने वादी (ट्रस्ट) और प्रतिवादी दोनों को रजिस्ट्री के सामने हलफनामे देने के निर्देश दिए थे. पिछले हफ्ते यह मामला जब जस्टिस पटेल के सामने आया तो ट्रस्ट के वकीलों ने हलफनामा सौंपने के लिए एक हफ्ते का और समय मांगा.

    हालांकि प्रतिवादियों ने इसका विरोध करते हुए दावा किया कि ट्रस्ट एक बार फिर इस मामले को मुलतवी कराना चाहता है. इससे सहमत होते हुए जस्टिस पटेल ने अपने आदेश में कहा, 'अब और स्थगन नहीं. तारीख पे तारीख अब और नहीं. अब बहुत हो गया.'

    Tags: Bombay high court

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर