मेरे लिए अपना धर्म साबित करने से बेहतर होगा मरना: ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने मंगलवार को कहा कि उनके लिए अपना धर्म साबित करने से ज्यादा मर जाना बेहतर होगा.

भाषा
Updated: August 13, 2019, 10:58 PM IST
मेरे लिए अपना धर्म साबित करने से बेहतर होगा मरना: ममता बनर्जी
ममता ने कहा कि वह हिंदू हैं लेकिन उनके मन में हर पंथ और धर्म के लिए श्रद्धा है. (File Photo)
भाषा
Updated: August 13, 2019, 10:58 PM IST
पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने मंगलवार को कहा कि उनके लिए अपना धर्म साबित करने से ज्यादा मर जाना बेहतर होगा. मुख्यमंत्री ने भाजपा (BJP) को चुनौती दी है कि वह तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) सरकार द्वारा की कई धार्मिक गतिविधियों की तुलना पहले वाली राज्य सरकार से करें. उन्होंने कहा कि पुरानी सरकारों की अपेक्षा तृणमूल कांग्रेस के शासन में राज्य में व्यापक तौर पर दुर्गा पूजा (Durga Puja) का आयोजन हुआ.

बंगाल के 15वीं शताब्दी के विख्यात संत चैतन्य महाप्रभु पर बने एक संग्रहालय का उद्घाटन करते हुए तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ने कहा कि वह हिंदू हैं लेकिन उनके मन में हर पंथ और धर्म के लिए श्रद्धा है. बिना भाजपा का नाम लिए हुए बनर्जी ने कहा, ‘‘मेरे लिए किसी मंदिर में प्रवेश से पहले खुद का धर्म साबित करने से ज्यादा मर जाना बेहतर होगा. आप कोई नहीं हैं जिसके समक्ष मुझे अपना धर्म साबित करना पड़े.’’

भाजपा लगा चुकी है तुष्टिकरण का आरोप
भाजपा कई बार बनर्जी पर अल्पसंख्यक वोट (Minority Votes) हासिल करने के लिए मुस्लिम समुदाय के तुष्टिकरण का आरोप लगा चुकी है. तृणमूल कांग्रेस का यह जवाब ऐसे समय में आया है जब भाजपा राज्य सरकार पर यहां दुर्गा पूजा के आयोजनों में कमी करने का आरोप लगा रही है. मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा को केंद्र में सत्ता में आने के बाद खुद के किए गए काम पर ध्यान देना चाहिए.

ममता बोली हम मानवता में करते हैं विश्वास
बनर्जी ने कहा, ‘‘ मैं उन्हें चुनौती देती हूं कि हमारी आठ साल के सरकार के धार्मिक कार्यों की तुलना वह पुरानी सरकारों से करें. हम मानवता में विश्वास करते हैं और धर्म का मतलब मानवता होता है. यह हमें प्रत्येक मनुष्य से प्रेम और उनका आदर करना सिखाता है. धर्म हमें लोगों को बांटने की शिक्षा नहीं देता है.’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि चैतन्य महाप्रभु ने लोगों को प्रेम और शांति का उपदेश दिया. लोगों ने उन पर हमले किए जैसा कि समाज सुधारक राजा राममोहन रॉय (Raja Rammohan Rai) पर भी हुआ लेकिन ये लोग कभी पीछे नहीं हटे.
Loading...

ये भी पढ़ें-
राजनीतिक रंग न होने पर ही क्यों अच्छा काम करती है CBI: गोगोई

भगवान राम के वंशज की दावेदारी में शामिल हुआ अग्रवाल समाज
First published: August 13, 2019, 10:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...