अवनी के निशाने के आगे अब कोई नहीं टिकता

अवनी के निशाने के आगे अब कोई नहीं टिकता
अवनी लखेरा, शूटर फोटो - ईटीवी

एक हादसे के बाद वो अपने पैरों पर चल फिर नहीं सकी. लेकिन उसके अभेद निशाने के आगे अब कोई नहीं टिकता. जब वो लक्ष्य साधती तो स्वर्ण पदकों की झड़ी सी लग जाती हैं. राजधानी की अवनी जगतपुरा शूटिंग रेंज से निकल कर देश-दुनियां में अपना नाम रोशन कर रही हैं.

  • Share this:
एक हादसे के बाद वो अपने पैरों पर चल फिर नहीं सकी. लेकिन उसके निशाने के आगे अब कोई नहीं टिकता. जब वो लक्ष्य साधती तो स्वर्ण पदकों की झड़ी सी लग जाती हैं. राजधानी की अवनी जगतपुरा शूटिंग रेंज से निकल कर देश-दुनियां में अपना नाम रोशन कर रही हैं. अवनी लखेरा ने हाल ही में केरल में हुई 61 वीं नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में एक या दो नहीं, 6 गोल्ड मेडल हासिल किए. पैरा वर्ग में देश में सबसे ज्यादा मेडल अवनी के थे . इस शूटर ने राष्ट्रीय ही नहीं वरन अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धाओं में अपना निशाना साधा है. जहां 2016 में पुणे में हुई नेशनल चैंपियनशिप में भी अपनी ने सीनियर, जूनियर और यूथ कैटेगरी में गोल्ड जीते. वहीं, इसके बाद वर्ल्ड शूटिंग पैरा वर्ल्डकप में रजत पदक हासिल किया और पैरा स्पोटर्स वर्ल्ड कप में ब्रांज जीता.

अवनी के लिए ये सब इतना आसान नहीं था. 2012 तक अवनी की जिंदगी भी हमारी तरह सामान्य सी थी. लेकिन इस साल एक बड़े सड़क हादसे ने उनके कदमों को रोक दिया. इस दुर्घटना से अवनी की रीढ़ की हड्डी पर चोट लगी और शरीर में कमर के नीचे का हिस्स पैरालाइज हो गया. कई जगहों पर इलाज कराए लेकिन कुछ भी सफल नहीं हो पाए. अभिनव ब्रिद्रा से प्रेरित इस निशानेबाज का स्कूली स्तर की प्रतियोगिताओं में जीत हासिल करने के साथ ही मेडल्स का सिलसिला चल पड़ा.

जयपुर के केन्द्रीय विद्यालय में दसवीं कक्षा में पढाई कर रही अवनी का अगला लक्ष्य 2018 की पैरा वर्ल्ड चैंपियनशिप, पैरा एशियन गेम्स और 2020 के पैरा ओलिंपिक गेम्स हैं. इसे लेकर उनके कोच चंदन सिंह उनकी पूरी तैयारियों में जुटे हैं. अवनी के जूनून से उन्हें उम्मीद है कि इन प्रतियोगिताओं में अवनी का निशाना अचूक होगा.



अवनी की माता श्वेता और पिता प्रवीण लखेरा भी अपनी बेटी के हर सपने को पूरा करने में जुटे हैं. उन्हें इस हादसे के बाद अपनी बेटी की इन सफलताओं पर खुशी है और गर्व भी कि अब हालातों से उबर कर वो अपने लक्ष्य की राह पर हैं.
(रिपोर्ट- महेश दाधीच)

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज