Home /News /nation /

5 गुना ज्यादा संक्रामक है ओमिक्रॉन, फिलहाल नहीं देखे गए गंभीर लक्षण: स्वास्थ्य मंत्रालय

5 गुना ज्यादा संक्रामक है ओमिक्रॉन, फिलहाल नहीं देखे गए गंभीर लक्षण: स्वास्थ्य मंत्रालय

डब्ल्यूएचओ ने ओमिक्रॉन को 'चिंता के प्रकार' के रूप में वर्गीकृत किया है.(प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

डब्ल्यूएचओ ने ओमिक्रॉन को 'चिंता के प्रकार' के रूप में वर्गीकृत किया है.(प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

Coronavirus Omicron Variant: संयुक्त सचिव ने कहा, "ओमिक्रॉन से जुड़े सभी मामलों में अब तक हल्के लक्षण पाए गए हैं. देश और दुनिया भर में अब तक ऐसे सभी मामलों में, कोई गंभीर लक्षण नहीं देखा गया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि इसके जो भी उभरते सबूत हैं उनका अध्ययन किया जा रहा है."

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. भारत में ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant Cases in India) के दो नए मामले सामने आने के बाद केंद्र सरकार ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वायरस के इस नए प्रकार (Coronavirus New Variant) के चलते कोई गंभीर लक्षण फिलहाल नहीं देखे गए हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ओमिक्रॉन के उभरते सबूतों का अध्ययन कर रहा है. हालांकि स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि ओमिक्रॉन वेरिएंट वायरस के बाकी वेरिएंट्स की तुलना में 5 गुना ज्यादा संक्रामक है. लेकिन मास्क ही इसके खिलाफ कारगर उपाय है.

    संयुक्त सचिव ने कहा, “ओमिक्रॉन से जुड़े सभी मामलों में अब तक हल्के लक्षण पाए गए हैं. देश और दुनिया भर में अब तक ऐसे सभी मामलों में, कोई गंभीर लक्षण नहीं देखा गया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि इसके जो भी उभरते सबूत हैं उनका अध्ययन किया जा रहा है.” इस बीच, लव अग्रवाल ने यह भी कहा, ‘जोखिम वाले’ देशों से आने वाले यात्रियों को आगमन पर आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना होगा. अग्रवाल ने कहा, “अगर वह कोविड-19 से संक्रमित पाए जाते हैं, तो उनका तय क्लीनिकल ​​​मैनेजमेंट प्रोटोकॉल के तहत इलाज किया जाएगा. अगर वह निगेटिव पाए जाते हैं तो भी उन्हें सात दिनों के लिए होम क्वारंटाइन में रहना होगा.”

    ये भी पढ़ें- दुनिया के ये 11 देश ओमिक्रॉन की हाई-रिस्क कैटगरी में, सरकार ने संसद में दी जानकारी

    भारत ने कर्नाटक में कोविड-19 के ओमिक्रॉन संस्करण के दो मामले दर्ज किए हैं. कर्नाटक के दो संक्रमित व्यक्तियों के सभी प्राथमिक और द्वितीयक संपर्कों की पहचान कर ली गई है और उनकी निगरानी की जा रही है और कोविड-प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है.

    9 सैंपल की जांच में ओमिक्रॉन की पुष्टि
    नए कोविड-19 संस्करण को पहली बार 25 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) को सूचित किया गया था. संगठन के अनुसार, पहले B.1.1.529 संक्रमण की पहचान इस साल 9 नवंबर को एकत्र किए गए सैंपल से हुई थी.

    26 नवंबर को, संगठन ने नए कोविड-19 वेरिएंट B.1.1.529 का नाम दिया गया था, जिसे दक्षिण अफ्रीका में ‘ओमिक्रॉन’ के रूप में पाया गया है. डब्ल्यूएचओ ने ओमिक्रॉन को ‘चिंता के प्रकार’ के रूप में वर्गीकृत किया है.

    म्यूटेंट की खोज के बाद से दर्जनों देशों ने दक्षिणी अफ्रीकी देशों पर यात्रा प्रतिबंध लगा दिए हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम गैब्रियोसुस ने कहा है कि 23 देशों में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन पुष्टि की गई है और उनकी संख्या बढ़ने की उम्मीद है. भारत ने इस सूची में कई देशों को भी जोड़ा है जहां से यात्रियों को देश में आगमन पर अतिरिक्त उपायों का पालन करना होगा, जिसमें आगमन के बाद आरटी-पीसीआर टेस्ट शामिल है.

    Tags: Health ministry, Omicron, Omicron variant, WHO

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर