• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • NO SIGN OF END IN PUNJAB CONGRESS DISPUTE NOW HIGH COMMAND INTERVENING KNOWAT

थम नहीं रही पंजाब कांग्रेस में कलह, निपटारे को आलाकमान ने लगाई पूरी ताकत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह. (पीटीआई फाइल फोटो)

पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) का विवाद खत्म करने के लिए कांग्रेस आलाकमान ने पूरी ताकत लगा दी है. इस बाबत सोनिया गांधी द्वारा बनाई गई कमेटी ने पहले दिन लगभग 7 घंटे मैराथन चर्चा की. उधर इस संकट का हल निकालने के लिए राहुल गांधी ने भी मोर्चा संभाल लिया है, जिसके तहत उन्होंने कई विधायकों से फोन पर बात की.

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) की कलह खत्म करने के लिए अब राहुल गांधी (Rahul Gandhi) एक्शन में आ गए हैं. दिल्ली में पहले दिन 25 विधायकों और प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ के साथ 3 सदस्यों वाली केंद्रीय कमेटी ने वॉर रूम में दिन भर मंथन किया. मंगलवार को कैप्टन से नाराज नवजोत सिंह सिद्धू और गुरुवार या शुक्रवार को सूबे के सीएम अमरिंदर सिंह भी कमेटी के सामने पेश होंगे.

    पंजाब कांग्रेस का विवाद खत्म करने के लिए कांग्रेस आलाकमान ने पूरी ताकत लगा दी है. इस बाबत सोनिया गांधी द्वारा बनाई गई कमेटी ने पहले दिन लगभग 7 घंटे मैराथन चर्चा की. उधर इस संकट का हल निकालने के लिए राहुल गांधी ने भी मोर्चा संभाल लिया है, जिसके तहत उन्होंने कई विधायकों से फोन पर बात की.

    कमेटी ने 25 विधायकों से अलग-अलग की मुलाकात
    मल्लिकार्जुन खड़गे, हरीश रावत, जेपी अग्रवाल की कमेटी ने सोमवार को दिल्ली में पंजाब के 25 विधायकों से अलग-अलग मुलाकात की. मंगलवार को नवजोत सिंह सिद्धू कमेटी के सामने अपनी बात रख सकते हैं. गुरुवार या शुक्रवार को कमेटी के सदस्य कैप्टन अमरिंदर सिंह से मिलेंगे. प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ समेत ज्यादातर विधायकों ने यही कहा कि विचारों के मतभेद का मामला है जो बातचीत से सुलझ जाएगा.

    कमेटी के सामने गुरुग्रंथ साहिब बेअदबी मामले को उठाया गया
    ज्यादातर विधायकों ने कमेटी के सामने गुरुग्रंथ साहिब बेअदबी मामले को उठाया और जल्द कार्रवाई की मांग की. इस मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सुखबीर बादल को दोषी ठहराया था अब यही मामला कैप्टन के गले की फांस बन गया है क्योंकि साढ़े चार साल बीतने के बाद भी बादल पर कोई कार्रवाई नहीं हुई. इस मुद्दे पर नवजोत सिंह सिद्धू समेत कांग्रेस के तमाम नेताओं को कैप्टन को घेरने का मौका मिल गया.

    मतलब गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की आड़ में अंदरखाने सिद्धू और बाजवा सहित तमाम नेता आलाकमान से अगले विधानसभा में सीएम चेहरा बदलने की मांग कर रहे हैं. हालांकि सूत्र बताते हैं कि फिलहाल कैप्टन की कुर्सी को कोई खतरा नहीं है.
    Published by:Mahima Bharti
    First published: