लाइव टीवी

अभिजीत और एस्थर के नोबेल जीतने पर क्या बोलीं मां निर्मला बनर्जी

News18Hindi
Updated: October 14, 2019, 8:22 PM IST
अभिजीत और एस्थर के नोबेल जीतने पर क्या बोलीं मां निर्मला बनर्जी
अभिजीत, एस्थर और क्रेमर को यह पुरस्कार ‘‘वैश्विक गरीबी उन्मूलन के लिए प्रयोगात्मक नजरिये’’ के लिए मिला.

अभिजीत बनर्जी को उनकी पत्नी एस्थर डुफ्लो और अमेरिका के अर्थशास्त्री माइकल क्रेमर के साथ संयुक्त रूप से नोबेल पुरस्कार देने की घोषणा हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2019, 8:22 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. दक्षिण कोलकाता स्थित एक घर में अलसाई दोपहर में फोन बजा. निर्मला बनर्जी ने बेडसाइड टेबल पर किताब रखी और फोन उठाया ...
'मां पता चला?'
अचानक हुए इस सवाल से निर्मला देवी काफी हैरान थीं ...
'नहीं क्या?'

'मां टीवी खोलें.'
बेटे के यह कहने के बाद निर्मला बनर्जी ने टीवी ऑन किया. टीवी स्क्रीन पर उनके बेटे के नोबेल जीतने की खबर चल रही थी. भारतीय मूल के अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी को वैश्विक गरीबी को कम करने के प्रयासों के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

कई लोगों ने कहा- अभिजीत कर रहे अच्छा काम
Loading...

बेटे को नोबेल मिलने से गौरवान्वित निर्मला देवी ने बताया, 'पिछले कई सालों से मैं कई लोगों से सुन रही , कि अभिजीत अच्छा काम कर रहा है. मैंने उनके कई काम पढ़े हैं. यहां तक ​​कि इस विषय पर मेरी रुचि है. अभिजीत की मुख्य यूएसपी में से एक है, पढ़ाने या लिखने के दौरान, वह बहुत कठिन विषय को एक स्पष्ट, सरल तरीके से चित्रित कर सकता है. अभिजीत की बात को कोई नौसिखिया भी समझ सकता है.'

साल 1961 में निर्मला बनर्जी और दीपक बनर्जी के पुत्र अभिजीत बनर्जी का जन्म हुआ. फिलहाल वह एमआईटी में फोर्ड फाउंडेशन इंटरनेशनल अर्थशास्त्र के प्रोफेसर हैं.

वह अब्दुल लतीफ जमील पॉवर्टी एक्शन लैब के सह-संस्थापक हैं, जो इनोवेशन फॉर पॉवर्टी एक्शन के अनुसंधान सहयोगी हैं, और कंसोर्टियम ऑन फाइनेंशियल सिस्टम्स एंड पॉवर्टी के सदस्य हैं. लैब की स्थापना अर्थशास्त्री एस्थर डुफ्लो और सेंथिल मुलैनाथन के साथ की गई थी.

निर्मला ने कहा- ' मैं उनसे कई सवाल पूछती हूं
अभिजीत और निर्मला, बेटे-मां की जोड़ी ने लंबा समय अर्थशास्त्र के विभिन्न पहलुओं पर बात करते हुए साथ बिताया है. निर्मला ने कहा- ' मैं उनसे कई सवाल पूछती हूं ... जैसे वर्तमान कर नीति और बहुत कुछ ... वास्तव में हम दोनों बीच टिपिकल मां-बेटे की बातचीत नहीं हुई कि 'आप कैसे हैं' खाना हो गया क्या? उन्हें ऐसे सवाल पसंद नहीं हैं?' अभिजीत 1983 से लंबे समय से अपने कोलकाता से बाहर हैं ... उन्हें पता है कि खुद को कैसे संभालना है. '

अभिजीत और एस्थर ने तब नहीं की थी शादी...
अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्री एस्थर डुफ्लो और माइकल क्रेमर के साथ नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. अभिजीत बनर्जी और एस्थर डुफ्लो नोबेल पुरस्कार जीतने वाला छठा विवाहित जोड़ा है.

सबसे पहले पियरे क्यूरी और मैरी क्यूरी थे जिन्होंने 1903 में रेडियम और पोलोनियम की खोज के लिए पुरस्कार जीता था.

आखिरी बार एक जोड़ी ने 2014 में एक साथ पुरस्कार जीता था, जब मई ब्रिट ब्रिटर और एडवर्ड आई. मोजर ने चिकित्सा या शरीर विज्ञान में नोबेल पुरस्कार जीता था.

दंपित के नोबेल पुरस्कार जितने पर अभिजीत की मां निर्मला बनर्जी ने कहा, 'एस्थर डुफ्लो ने कोलकात में काम किया, लंबे समय तक मेरे साथ रही. तब दोनों की शादी भी नहीं हुई थी.'

यह भी पढ़ें: नोबेल पुरस्कार विजेता ​अभिजीत बनर्जी ने आर्थिक सुस्ती पर चिंता जाहिर की

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 8:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...