लाइव टीवी

NPR को लेकर गृह मंत्रालय ने बुलाई बैठक, गैर-BJP राज्यों ने जताई आपत्ति

भाषा
Updated: January 17, 2020, 11:59 PM IST
NPR को लेकर गृह मंत्रालय ने बुलाई बैठक, गैर-BJP राज्यों ने जताई आपत्ति
केंद्र ने कहा लोगों को कुछ सवालों के जवाब अनिवार्य रूप से नहीं, बल्कि स्वैच्छिक रूप से देने हैं.

राजस्थान (Rajasthan) कांग्रेस शासित राज्य है, जिसने एनपीआर (NPR) की कवायद पर अपना विरोध जताया है. इसके अलावा केरल (Kerala) और पंजाब भी इसके खिलाफ हैं. सम्मेलन में बताया गया कि जनगणना के इतिहास में पहली बार मोबाइल ऐप का इस्तेमाल किया जाएगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. कुछ गैर-भाजपा शासित राज्यों ने शुक्रवार को राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) के लिए अपनाई गई नई प्रक्रिया पर आपत्ति जताई, लेकिन केंद्र सरकार ने इस कदम का यह कहकर बचाव किया है कि लोगों को कुछ सवालों के जवाब अनिवार्य रूप से नहीं, बल्कि स्वैच्छिक रूप से देने हैं. केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा आयोजित एक दिवसीय सम्मेलन में राजस्थान (Rajasthan) और कुछ अन्य राज्यों ने इस पर आपत्ति जताई.

यह सम्मेलन 2021 की जनगणना के ‘हाउस लिस्टिंग’ चरण और एक अप्रैल से 30 सितंबर, 2020 तक चलने वाले राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (NRC) के दौरान अपनाई जाने वाली प्रक्रिया पर चर्चा के लिए बुलाया गया था. राजस्थान के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने कहा कि उन्होंने और कुछ अन्य राज्यों ने एनपीआर (NPR)  कवायद के दौरान लोगों से पूछे जाने वाले कुछ सवालों को लेकर आपत्ति जताई. गुप्ता ने बैठक के बाद कहा, “हमने कहा कि एनपीआर (NPR) में कुछ सवाल अव्यवहारिक हैं, जैसे माता-पिता के जन्मस्थान से संबंधित सवाल. देश में कई लोग ऐसे हैं, जिन्हें अपना जन्म स्थान ही नहीं पता है. मुझे नहीं पता कि ऐसे सवालों का क्या मकसद है और हमने बैठक में ऐसे सवालों को हटाने के लिए कहा.”

राजस्थान कांग्रेस शासित राज्य है, जिसने एनपीआर की कवायद पर अपना विरोध जताया है. इसके अलावा केरल और पंजाब भी इसके खिलाफ हैं. सम्मेलन में बताया गया कि जनगणना के इतिहास में पहली बार मोबाइल ऐप का इस्तेमाल किया जाएगा. सम्मेलन का उद्घाटन गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने की और इसमें केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला के साथ ही कई राज्यों के मुख्य सचिव और जनगणना निदेशक शामिल हुए. मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि ज्यादातर राज्यों ने एनपीआर से संबंधित प्रावधानों को अधिसूचित कर दिया है.

यह भी पढ़ें...

टोल प्लाजा पर देरी के लिए रहें तैयार, फास्टैग की वजह से इतना बढ़ा वेटिंग टाइम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 11:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर