Home /News /nation /

North Korea Hypersonic Missile Test: अब उत्तर कोरिया ने भी हाइपरसोनिक मिसाइल का किया परीक्षण, यूएस ने कही ये बात

North Korea Hypersonic Missile Test: अब उत्तर कोरिया ने भी हाइपरसोनिक मिसाइल का किया परीक्षण, यूएस ने कही ये बात

नॉर्थ कोरिया के शासक किम जोंग उन

नॉर्थ कोरिया के शासक किम जोंग उन

North Korea : हाइपरसोनिक मिसाइल (Hypersonic Missile) की रफ्तार आवाज से 5 गुना ज्यादा बताई जाती है. यानी जितनी देर में एक व्यक्ति की आवाज दूसरे के कान तक पहुंचे, उसके एक-चौथाई से भी कम समय में यह उस तक पहुंच सकती है. केसीएनए (KCNA) के मुताबिक इस परीक्षण के जरिए यह भी परख लिया गया है कि ये मिसाइल तेज ठंड के मौसम भी सफलतापूर्वक दागी जा सकती है.

अधिक पढ़ें ...

North Korea Hypersonic Missile Test: उत्तर कोरिया (North Korea) ने हाइपरसोनिक मिसाइल (Hypersonic Missile) का परीक्षण किया है. उत्तर कोरिया (North Korea) की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए (KCNA) के मुताबिक यह परीक्षण बुधवार, 5 जनवरी को किया गया. मिसाइल ने सफलतापूर्वक 700 किलोमीटर दूर अपने लक्ष्य पर निशाना साधा.

द गार्जियन (The Guardian) की रिपोर्ट के मुताबिक, बीते साल अक्टूबर के बाद उत्तर कोरिया ने यह पहला मिसाइल परीक्षण किया है. अमेरिका, दक्षिण कोरिया, जापान ने भी इसकी पुष्टि की है. साथ ही इसके लिए उत्तर कोरिया (North Korea) की आलोचना भी की है. वैसे, उत्तर कोरिया ने पहली बार बीते साल सितंबर में हाइपरसोनिक मिसाइल (Hypersonic Missile) का परीक्षण किया था. इसके साथ ही वह ये क्षमता हासिल करने वाले दुनिया के चुनिंदा देशों में शामिल हो गया था. हालांकि उत्तर कोरिया के आक्रामक परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम (Neuclear and Missile Programme of North Korea) की पूरी दुनिया में आलोचना भी होती रही है.

दो घंटे से कम में नई दिल्ली से न्यू यॉर्क की दूरी तय कर सकती है

हाइपरसोनिक मिसाइल (Hypersonic Missile) की रफ्तार आवाज से 5 गुना ज्यादा बताई जाती है. यानी जितनी देर में एक व्यक्ति की आवाज दूसरे के कान तक पहुंचे, उसके एक-चौथाई से भी कम समय में यह उस तक पहुंच सकती है. किलोमीटर के हिसाब से देखें तो इसकी रफ्तार करीब 6,200 किलोमीटर प्रतिघंटा बताई जाती है. यानी, नई दिल्ली से न्यू यॉर्क की लगभग 11,747 किलोमीटर की दूरी 2 घंटे से कम में नाप सकती है. इसकी एक और खासियत ये है कि यह बेहद कम ऊंचाई पर उड़़ान भर सकती है. केसीएनए (KCNA) के मुताबिक इस परीक्षण के जरिए यह भी परख लिया गया है कि ये मिसाइल तेज ठंड के मौसम भी सफलतापूर्वक दागी जा सकती है.

क्या कहते हैं विशेषज्ञ और अन्य देश

अमेरिका स्थित कारनेगी एंडावमेंट फॉर इंटरनेशनल पीस से जुड़े वरिष्ठ विशेषज्ञ अंकित पांडा कहते हैं, ‘उत्तर कोरिया ने हाइपरसोनिक मिसाइल (Hypersonic Missile) की उपयोगिता को अच्छी तरह समझ लिया है. अमेरिका और दक्षिण कोरिया जैसे देशों के पास मौजूद मिसाइल डिफेंस प्रणालियों (Missile Defence System) का मुकाबला करने के लिहाज से उत्तर कोरिया के लिए हाइपरसोनिक मिसाइल-सिस्टम (Hypersonic Missile System) बहुत काम आने वाला है. वह इस वक्त दो स्तर की हाइपरसोनिक मिसाइल (Hypersonic Missile) विकसित कर चुका है. पहली- ह्वासोंग-8, जिसका परीक्षण बीते साल सितंबर में किया गया था. दूसरी- ये, जिसका परीक्षण अभी बुधवार, 5 जनवरी को हुआ है. नई मिसाइल ह्वासोंग-8 का ही सुधरा हुआ संस्करण है. इसमें कुछ फीचर तो पहले जैसे ही हैं. कुछ नए जोड़े गए हैं.’

वहीं अमेरिकी विदेश विभाग (US State Department) ने इस परीक्षण के बाद जारी बयान में कहा है, ‘इस परीक्षण ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) के तमाम प्रस्तावों का उल्लंघन किया है. साथ उत्तर कोरिया (North Korea) ने अपने पड़ोसियों और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामने भी नई चुनौती पेश की है.

Tags: Hindi news, Hypersonic, Missile, North Korea

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर