Home /News /nation /

उत्तर पश्चिम रेलवे नई रेल लाइनों पर खर्च करेगी 316 करोड़, 500 करोड़ से मजबूत होंगे ट्रैक

उत्तर पश्चिम रेलवे नई रेल लाइनों पर खर्च करेगी 316 करोड़, 500 करोड़ से मजबूत होंगे ट्रैक

भारतीय रेलवे ने किसानों के रेल रोको आंदोलन के लिए खास तैयारियां की हैं.
(फाइल फोटो)

भारतीय रेलवे ने किसानों के रेल रोको आंदोलन के लिए खास तैयारियां की हैं. (फाइल फोटो)

नई लाइनें बिछाने के अलावा गेज परिवर्तन (Guage Conversion) के लिए भी Budget का प्रावधान किया गया है, ताकि इनकों गति प्रदान की जा सकें. Guage परिवर्तन के लिये 80 करोड तथा Rail Line के दोहरीकरण के लिये 225 करोड़ रूपये के बजट का प्रावधान किया गया है.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. रेलवे बजट में उत्तर पश्चिमी रेलवे को नई योजनाओं और चालू प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए वर्ष 2021- 22 के बजट में 4672.55 करोड रुपए आवंटित किए गए हैं. उत्तर पश्चिमी रेलवे इस राशि को आधारभूत ढांचे को और मजबूत करने के लिए खर्च करेगी. रेल बजट में उत्तर पश्चिमी रेलवे को दो नई रेल लाइन बिछाने के लिए 316.76 करोड रुपए का आंवटन किया गया है.

    उत्तर पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक आनन्द प्रकाश ने रेल बजट के बारे में जानकारी देते हुये बताया कि यह बजट भविष्य के लिये आत्मनिर्भर भारत की ओर महत्वपूर्ण कदम हैै.
    अगले वित्तीय वर्ष में उत्तर पश्चिमी रेलवे नई रेल लाइन बिछाने के अलावा नए रेलवे क्रॉसिंग, रोड ओवर ब्रिज तथा रोड अंडर ब्रिज, ट्रैक के नवीनीकरण जैसे कार्य करेगी. सुरक्षा के लिहाज से और हादसों पर लगाम लगाने के मद्देनजर ट्रैक्स नवीनीकरण के लिए बजट में 500 करोड़ रुपए का अलग से भी प्रावधान किया गया है.
    रेल बजट में यात्री सुविधाओं को लेकर भी विशेष ध्यान दिया गया है. इसके लिए उत्तर पश्चिमी रेलवे को 462.58 करोड रुपए का बजटीय प्रावधान किया गया है. वहीं, जोनल रेलवे के अंतर्गत आने वाली रेलवे क्रॉसिंग्स पर रोड ओवर ब्रिज (ROBs) तथा रोड अंडर ब्रिज (RUBs) के लिए 334.51 करोड रुपए का भी प्रावधान बजट में किया गया है.
    नई लाइनें बिछाने के अलावा गेज परिवर्तन (Guage Conversion) के लिए भी Budget का प्रावधान किया गया है, ताकि इनकों गति प्रदान की जा सकें. Guage परिवर्तन के लिये 80 करोड तथा Rail Line के दोहरीकरण के लिये 225 करोड़ रूपये के बजट का प्रावधान किया गया है.
    उत्तर पश्चिमी रेलवे के मुताबिक ब्रिज कार्यों के लिए 33 करोड़, सिगनल कार्यों के लिये 93.59 करोड, रोलिंग स्टाॅक के लिये 24.87 करोड, यातायात सुविधाओं के लिये 65.99 करोड, कारखाना कार्यों के लिये 40.53 करोड, कर्मचारी कल्याण के लिये 29.24 करोड तथा प्रशिक्षण कार्य के लिये 4.11 करोड़ रूपये का बजट आवंटन किया गया है.
    जोनल रेलवे पर जिन नए कार्यों के लिए बजट का प्रावधान किया गया उनमें 24. 86 करोड़ की लागत से रेवाड़ी-भिवानी-हिसार रेलखण्ड के डेडिकेटेड फ्रेट काॅरीडोर फीडर रूट पर उपरि विद्युत उपस्कर को ऊंचा करना प्रस्तावित है. वही वर्तमान में जारी मुख्य कार्यों में नई लाइन के लिए 160 करोड़ से
    दौसा-गंगापुरसिटी (92.67 किमी.) और 100 करोड़ की लागत से गुढ़ा-ठठाणा मीठडी परीक्षण ट्रेक का कार्य पूरा किया जाएगा.
    इसके अलावा मावली-बड़ी सादरी (81.01 किमी.) रेल लाइन का 50 करोड़ और अहमदाबाद-हिम्मतनगर (208.48 किमी.) रेल लाइन का 240 करोड़ की लागत से गेज परिवर्तन किया जाएगा. वहीं, चार लाइनों का दोहरीकरण भी किया जाएगा.
    इनमेें फुलेरा-डेगाना (108.75 किमी.)  32 करोड़, डेगाना-राई का बाग (145 किमी.) 100 करोड़, बागडग्राम-गुड़िया पेच डबलिंग (47 कि.मी.) 40 करोड़ और अजमेर-बागडग्राम (48.43 कि.मी.) का 25 करोड़ की लागत से दोहरीकरण किया जाएगा. वहीं, रेल विद्युतीकरण के कार्यों के लिए बजट में 1062.36 करोड़ का प्रावधान भी किया है.

    Tags: Indian Railways, Rail Budget

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर