अपना शहर चुनें

States

अगले 24 घंटे में तेज होगा चक्रवात 'गाजा', मछुआरों को समुद्र में ना जाने की चेतावनी

प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो

भारतीय मौसम विभाग ने हालांकि कहा कि चक्रवात के 15 नवंबर को उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश के तटों को पार करते हुए धीरे धीरे कमजोर होने की संभावना है.

  • Share this:
बंगाल की खाड़ी में गहरे दबाव का क्षेत्र बनने से चक्रवाती तूफान मजबूत हो गया और इसके 15 नवंबर को कुड्डालोर और श्रीहरिकोटा के बीच उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश तट से गुजरने की संभावना है.

शाम चार बजे जारी एक बुलेटिन में कहा गया कि ‘गाजा’ नाम का चक्रवात चेन्नई के उत्तरपूर्व में करीब 860 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद है और वह 12 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है. उसके अगले 24 घंटे के भीतर ‘गंभीर चक्रवात तूफान’ में तब्दील होने की संभावना है.

तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश के ऊपर करीब 80-90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है.



संवाददाताओं से बात करते हुए क्षेत्रीय चक्रवात चेतावनी केन्द्र के निदेशक एस बालचंद्रन ने कहा कि उत्तरी तमिलनाडु के तटीय क्षेत्रों में 14 नवंबर की रात को औसत जबकि कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है.
उन्होंने कहा कि 15 नवंबर को कई जगहों पर औसत बारिश जबकि कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने का अनुमान है.

मछुआरों को 12 नवंबर से समुद्र में मछली पकड़ने के लिए नहीं जाने की सलाह दी गई है और जो समुद्र में मौजूद हैं उन्हें वापस लौटने को कहा गया है.

भारतीय मौसम विभाग ने हालांकि कहा कि चक्रवात के 15 नवंबर को उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश के तटों को पार करते हुए धीरे-धीरे कमजोर होने की संभावना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज