लाइव टीवी

राम मंदिर पर बयान से मचा हंगामा, थरूर बोले- मैं कांग्रेस का प्रवक्ता नहीं

भाषा
Updated: October 15, 2018, 9:25 PM IST
राम मंदिर पर बयान से मचा हंगामा, थरूर बोले- मैं कांग्रेस का प्रवक्ता नहीं
तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर की फाइल फोटो

तिरुवनंतपुरम से सांसद थरूर ने एक कार्यक्रम में कहा था, 'ज्यादातर हिंदू मानते हैं कि अयोध्या भगवान राम की जन्मभूमि है... लेकिन मेरा यह भी मानना है कि कोई अच्छा हिंदू ऐसी जगह पर राम मंदिर का निर्माण नहीं चाहेगा, जहां किसी और के पूजा स्थल को तोड़ा गया हो.'

  • Share this:
'कोई भी अच्छा हिंदू यह नहीं चाहेगा कि किसी धार्मिक स्थल को गिराकर राम मंदिर बने.' कांग्रेस नेता शशि थरूर ने यह कहकर एक विवाद को हवा दे दी. बीजेपी ने थरूर के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की और कांग्रेस व उसके अध्यक्ष राहुल गांधी को 'हिंदू विरोधी' बताया.

दरअसल तिरुवनंतपुरम से सांसद थरूर ने चेन्नई में रविवार को एक कार्यक्रम में कहा था, 'ज्यादातर हिंदू मानते हैं कि अयोध्या भगवान राम की जन्मभूमि है... लेकिन मेरा यह भी मानना है कि कोई अच्छा हिंदू ऐसी जगह पर राम मंदिर का निर्माण नहीं चाहेगा, जहां किसी और के पूजा स्थल को तोड़ा गया हो.'

थरूर के इस बयान को लेकर बीजेपी ने उन पर हमला बोला. पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि उन लोगों ने राहुल गांधी का असली चेहरा 'बेनकाब' कर दिया है. पात्रा ने कहा, 'ऐसे बयान कांग्रेस और राहुल गांधी को पूरी तरह से बेनकाब करते हैं. वे हिंदू-विरोधी हैं.'

वहीं अपने बयान पर विवाद बढ़ता देख थरूर ने जोर दिया कि यह उनका निजी बयान है. थरूर ने ट्वीट किया कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया. उन्होंने यह भी कहा कि एक कार्यक्रम में उनसे उनकी निजी राय के बारे में सवाल किया गया. उन्होंने कहा कि वह अपनी पार्टी के प्रवक्ता नहीं हैं और उनके बयान को पार्टी से नहीं जोडें.

ये भी पढ़ें- #MeToo पर शशि थरूर बोले, 'आरोपों के बाद संभल गए हैं मर्द'

उधर बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि उन्हें हिंदू धर्म के बारे में बोलने का कोई अधिकार नहीं हैं. वह ऐसा जीवन जीते रहे हैं, जिनका हिंदुत्व से कोई लेना देना नहीं है. वह अपने को आध्यात्मिक शक्ति बताने का प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने अपना 'संतुलन' खो दिया है.

कांग्रेस ने थरूर के एक बयान से दूरी बनाते हुए कहा कि उन्होंने निजी हैसियत से बयान दिया है. पार्टी ने कहा कि राम मंदिर-बाबरी मस्जिद मामले पर उसका यह रुख बरकरार है कि इसमें उच्चतम न्यायालय जो भी फैसला करता है, उसे सभी को मानना चाहिए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2018, 9:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर