फडणवीस ने समझाया- मुंबईवासियों को मेट्रो कार शेड शिफ्ट होने की कीमत चुकानी होगी

देवेंद्र फडणवीस का कहना है कि मेट्रो कार शेड शिफ्ट होने से सबसे ज्यादा प्रभावित मुंबईवासी होंगे. (फाइल फोटो)
देवेंद्र फडणवीस का कहना है कि मेट्रो कार शेड शिफ्ट होने से सबसे ज्यादा प्रभावित मुंबईवासी होंगे. (फाइल फोटो)

देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा है कि कांजूरमार्ग नो-कॉस्ट प्रपोजल नहीं बल्कि नो मेट्रो प्रपोजल है. उन्होंने बताया है कि मेट्रो 3 सुरंग का काम करीब 76 प्रतिशत पूरा हो चुका है. लेकिन अगले चार-पांच सालों तक कोई भी कार डिपो बनता नहीं दिख रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 6:52 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने समझाया है कि क्यों मेट्रो कार शेड की शिफ्टिंग की कीमत मुंबईवासियों को चुकानी होगी. गौरतलब है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कुछ दिनों पहले विवादों में रहे आरे मेट्रो कार शेड प्रोजेक्ट को रद्द कर दिया है. राज्य सरकार ने पर्यावरण को देखते हुए मेट्रो कार शेड बनाने के फैसले पर रोक लगा दी है. आरे मेट्रो कार परियोजना का स्थान बदलने की घोषणा करते हुए इसे यहां कांजूरमार्ग स्थानांतरित करने की बात कही. ठाकरे ने डिजिटल कॉन्फ्रेंस में कहा था कि परियोजना को कांजूरमार्ग में सरकारी भूमि पर स्थानांतरित किया जाएगा और इस काम में कोई खर्च नहीं आएगा. उन्होंने कहा, 'भूमि शून्य दर पर उपलब्ध कराई जाएगी.'

आर्थिक तौर पर क्यों ठीक नहीं कांजूरमार्ग प्रोजेक्ट
लेकिन अब देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि कांजूरमार्ग नो-कॉस्ट प्रपोजल नहीं बल्कि नो मेट्रो प्रपोजल है. उन्होंने बताया है कि मेट्रो 3 सुरंग का काम करीब 76 प्रतिशत पूरा हो चुका है. लेकिन अगले चार-पांच सालों तक कोई भी कार डिपो बनता नहीं दिख रहा. उनका कहना है कि एक्सपर्ट भी कांजूरमार्ग डिपो को आर्थिक तौर पर सही नहीं मानते. फडणवीस का कहना है कि इसकी कीमत मुंबईवासियों को चुकानी होगी.

'हमारी सरकार ने बढ़ाया था मेट्रो प्रोजेक्ट का दायरा'
उन्होने कहा है कि 2014 में सिर्फ 11 किमी मेट्रो ही प्रस्तावित थी लेकिन हमारे कार्यकाल में इसे 190 किमी का किया गया. फडणवीस का कहना है कि उनकी सरकार ने पूरे मुंबई में ट्रांसपोर्ट के एकीकृत टिकट सिस्टम की प्लानिंग की थी लेकिन वो सब कुछ अब बिखरता दिख रहा है.





उद्धव ठाकरे ने रद्द किया आरे प्रोजेक्ट
गौरतलब है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के एक दिन बाद, ठाकरे ने मुंबई की ग्रीन लंग आरे कॉलोनी में मेट्रो कार शेड के निर्माण पर रोक लगाने की घोषणा की थी, जहां काम के लिए पेड़ों की कटाई के खिलाफ पिछले साल अक्टूबर में जोरदार विरोध प्रदर्शन हुआ था. महाराष्ट्र में भाजपा की अगुआई वाली सरकार के खिलाफ अक्टूबर में पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने उस समय प्रदर्शन किया था जब सरकार ने संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान से सटे आरे कॉलोनी में एक कार शेड के लिए 2,000 से अधिक पेड़ गिरा दिए गए थे. तब देवेंद्र फडणवीस सरकार में जूनियर पार्टनर शिवसेना ने भी पेड़ों की कटाई का विरोध किया था.

(पूरा लेख यहां क्लिक कर पढ़ा जा सकता है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज