पाकिस्तान पर गिरिराज की चुटकी: आपकी गलती नहीं, ICJ का फैसला अंग्रेजी में था

गिरिराज सिंह के ट्वीट से ऐसा लगता है कि उनका इशारा पाकिस्तानी लोगों की कथित खराब अंग्रेजी की तरफ था, जिस पर अक्सर सोशल मीडिया पर लोग मजाक उड़ाया करते हैं.

News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 10:54 AM IST
पाकिस्तान पर गिरिराज की चुटकी: आपकी गलती नहीं, ICJ का फैसला अंग्रेजी में था
कुलभूषण जाधव पर ICJ के फैसले के बाद गिरिराज सिंह ने पाकिस्तान पर ली चुटकी (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 10:54 AM IST
भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव मामले में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) के फैसले को पाकिस्तानी मीडिया इमरान खान की जीत के तौर पर पेश कर रहा है. इसे लेकर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने पाकिस्तान पर चुटकी ली है.

कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तानी सरकार के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से भी एक ट्वीट किया गया, जिसमें ICJ के फैसले को पाकिस्तान की बड़ी जीत करार दिया गया. इस पर गिरिराज सिंह ने जवाब देते हुए लिखा, "आपकी गलती नहीं है, क्योंकि ICJ का फैसला अंग्रेजी में था."



गिरिराज सिंह के ट्वीट से ऐसा लगता है कि उनका इशारा पाकिस्तानी लोगों की कथित खराब अंग्रेजी की तरफ था, जिस पर अक्सर सोशल मीडिया पर लोग मजाक उड़ाया करते हैं.

बता दें कि आईसीजे ने मामले में फैसला दिया है कि पाकिस्तान कुलभूषण को दी गई मौत की सजा की समीक्षा करे और उन्हें राजनयिक पहुंच मुहैया कराए. पाकिस्तान ने जाधव को मार्च, 2016 में पकड़ा था. अप्रैल, 2017 में पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने उन्हें भारतीय जासूस और आतंकवादी बताकर मौत की सजा सुनाई थी.

आईसीजे ने 15-1 के बहुमत से लगाई सजा पर रोक
आईसीजे ने 15-1 के बहुमत से कहा कि जाधव की मौत की सजा पर रोक बरकरार रहेगी. पाकिस्तान की सैन्य अदालत में उन्हें दोषी ठहराने और उन्हें दी गई सजा पर पुनर्विचार करने की जरूरत है. आईसीजे ने मामले में पाकिस्तान की आपत्तियों को खारिज कर दिया. साथ ही पाकिस्तान के इस तर्क को भी खारिज कर दिया कि भारत ने जाधव की वास्तविक नागरिकता की जानकारी नहीं दी है.
Loading...

वियना संधि उल्लंघन पर पाक की लगाई फटकार
अदालत ने कहा, ''यह साफ है कि जाधव भारतीय नागरिक है. पाकिस्तान ने भी माना है कि जाधव भारतीय नागरिक है.'' आईसीजे ने फटकार लगाते हुए कहा कि पाकिस्तान ने जाधव को उनके अधिकारों के बारे में नहीं बताया. ऐसा करके पाकिस्तान ने वियना संधि की शर्तों का उल्लंघन किया गया है. साथ ही आईसीजे ने जाधव तक राजनयिक पहुंच दिए जाने की भारत की मांग के पक्ष में फैसला सुनाया है. अब भारतीय उच्चायोग जाधव से मुलाकात कर सकेगा और उन्हें वकील व अन्य कानूनी सुविधाएं दे पाएगा.

ये भी पढ़ें: कुलभूषण को जासूस साबित कराने के लिए पाक ने खर्च कर दिए 20 करोड़, भारत ने 1 रुपये में जीता केस
First published: July 18, 2019, 10:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...