अपना शहर चुनें

States

दिशा रवि की गिरफ्तारी पर दिल्ली पुलिस को नोटिस, महिला आयोग ने तीन दिनों में मांगा जवाब

दिशा रवि को तीन कृषि कानूनों से संबंधित किसानों के विरोध प्रदर्शन से जुड़ी ‘टूलकिट’ सोशल मीडिया पर साझा करने के आरोप में गत शनिवार को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया था.
दिशा रवि को तीन कृषि कानूनों से संबंधित किसानों के विरोध प्रदर्शन से जुड़ी ‘टूलकिट’ सोशल मीडिया पर साझा करने के आरोप में गत शनिवार को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया था.

Disha Ravi Arrested: दिल्ली पुलिस आयुक्त एस. एन. श्रीवास्तव ने मंगलवार को कहा कि जलवायु (Climate) कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी कानून के अनुरूप की गई है, जो ‘22 से 50 वर्षीय की आयु के लोगों के बीच कोई भेदभाव नहीं करता.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 16, 2021, 3:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 21 वर्षीय पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि (Disha Ravi) की गिरफ्तार पर दिल्ली महिला आयोग (Delhi Commission for Women) ने सवाल उठाए हैं. इस संबंध में आयोग ने दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को एक नोटिस भी भेजा है. आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने आरोप लगाए हैं. दिशा की गिरफ्तारी में कानूनी प्रक्रियाओं का सही तरीके से पालन नहीं किया गया. दिल्ली पुलिस ने रवि को शनिवार को बेंगलुरू से गिरफ्तार किया था. उनके ऊपर साजिश और राजद्रोह (Sedition) का मामला दर्ज किया गया है.

नोटिस में क्या कहा गया है
दिल्ली पुलिस को भेजे नोटिस में महिला आयोग ने कहा है 'मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दिशा को 13-02-2021 को बेंगलुरू से दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था. मीडिया में कुछ कार्यकर्ताओं की तरफ से यह आरोप लगाए जा रहे हैं कि दिल्ली पुलिस उसे बेंगलुरू से दिल्ली बगैर उसके ठिकाने की जानकारी का खुलासा किए ले गई. इस बात की जानकारी उसके माता-पिता को भी नहीं थी.'

नोटिस में लिखा है 'यह भी आरोप लगाए गए हैं कि उसे ट्रांजिट रिमांड के लिए स्थानीय कोर्ट में पेश किए बगैर बेंगलुरू से दिल्ली लाया गया. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि दिशा रवि को दिल्ली कोर्ट में उनकी पसंद के वकील की गैरमौजूदगी में पेश किया गया.' महिला आयोग ने मामले में संविधान के आर्टिकल 22(1) का हवाला दिया है. वहीं, आयोग ने दिल्ली पुलिस से आगामी 19 फरवरी तक मामले की जानकारी देने की मांग की है.
यह भी पढ़ें: Toolkit Case: दिशा रवि की गिरफ्तारी को दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने बताया सही, कहा- 22 हो या 50 कानून सबके लिए समान



दिल्ली पुलिस ने कहा- कानून का किया गया है पालन
दिल्ली पुलिस आयुक्त एस. एन. श्रीवास्तव ने मंगलवार को कहा कि जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी कानून के अनुरूप की गई है, जो ‘22 से 50 वर्षीय की आयु के लोगों के बीच कोई भेदभाव नहीं करता.’ श्रीवास्तव ने पत्रकारों से कहा कि यह गलत है जब लोग कहते हैं कि 22 वर्षीय कार्यकर्ता की गिरफ्तारी में चूक हुई.

दिल्ली पुलिस के प्रमुख ने कहा, ‘दिशा रवि की गरिफ्तारी कानून के अनुरूप की गई है, जो 22 से 50 वर्षीय की आयु के लोगों के बीच कोई भेदभाव नहीं करता.’ उन्होंने कहा कि दिशा रवि को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया है और मामले की जांच जारी है.

दिशा रवि को तीन कृषि कानूनों से संबंधित किसानों के विरोध प्रदर्शन से जुड़ी ‘टूलकिट’ सोशल मीडिया पर साझा करने के आरोप में गत शनिवार को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने दावा किया है कि उन्होंने ‘टेलीग्राम ऐप’ के जरिए जलवायु परिवर्तन कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग को यह ‘टूलकिट’ भेजी थी और इस पर कार्रवाई के लिए ‘उन्हें मनाया था.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज