अब वेबसाइट पर जाकर अपनी भाषा में पढ़ सकेंगे सुप्रीम कोर्ट का हर फैसला

सुप्रीम कोर्ट में अब जजमेंट को अंग्रेजी से हिन्दी में ट्रांसलेट किया जाएगा. इसके बाद इसका क्षेत्रीय भाषाओं में भी अनुवाद करने की कोशिश होगी.

News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 12:25 PM IST
अब वेबसाइट पर जाकर अपनी भाषा में पढ़ सकेंगे सुप्रीम कोर्ट का हर फैसला
सुप्रीम कोर्ट में अब जजमेंट को अंग्रेजी से हिन्दी में ट्रांसलेट किया जाएगा.
News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 12:25 PM IST
सुप्रीम कोर्ट जल्द ही अपने द्वारा सुनाए गए फैसले को कई क्षेत्रीय भाषाओं में सुप्रीम कोर्ट की बेबसाइट पर अपलोड करने की तैयारी में है. सूत्रों के मुताबिक जल्द ही सुप्रीम कोर्ट इस दिशा में काम करने की शुरुआत करने वाला है.

सुप्रीम कोर्ट में अब जजमेंट को अंग्रेजी से हिन्दी में ट्रांसलेट किया जाएगा. इसके बाद इसका क्षेत्रीय भाषाओं में भी अनुवाद करने की कोशिश होगी. 500 पन्नों जैसे बड़े जजमेंट को संक्षिप्त करके एक या दो पन्नों में करेंगे ताकि आम लोगों को समझ में आ जाए. सुप्रीम कोर्ट शुरुआत में जिन क्षेत्रीय भाषाओं में अनुवाद करने की शुरुआत करने वाला है उसमें अंग्रेजी के साथ हिन्दी, कन्नड़, असमिया, उड़िया और तेलगु है.

जजमेंट को संक्षिप्त में करने की तैयारी
दरअसल, सुप्रीम कोर्ट इस तैयारी में है कि बड़े फैसलों में 500 पन्नों जैसे बड़े जजमेंट को संक्षिप्त करके एक या दो पन्नों में कर सकें, ताकि आम लोगों को समझ आने में कोई परेशानी नहीं हो.

थिंक टैंक बनाने की भी कोशिश
वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट एक थिंक टैंक बनाने की भी कोशिश कर रहा है. जिससे सुप्रीम कोर्ट के कुछ जजमेंट को हिन्दी में भी ट्रांसलेट किया जा सके. ताकि आम लोग भी कोर्ट के फैसले को समझ सकें. इतना ही नहीं इस पर भी काम किया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट के बड़े-बड़े फैसलों को कैसे संक्षिप्त करके लोगों तक पहुंचाया जा सके.

हिन्दी भाषा समझने वालों की संख्या ज्यादा
Loading...

दरअसल यह फैसला अंग्रेजी नहीं जानने वाले लोगों के हितों को ध्यान में रखकर लिया गया है. सूत्रों की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक चीफ जस्टिस ने कहा कि इसकी कवायद शुरू हो चुकी है और सबसे पहले हिन्दी में फैसलों का अनुवाद देना शुरू किया जाएगा. भारत देश में हिन्दी भाषा को पढ़ने और समझने वालों की संख्या अधिक है इसलिए भारत की राष्ट्र भाषा हिन्दी से शुरुआत की जाएगी.

ये भी पढ़ें- दाऊद के करीबी जाबिर मोतीवाला के प्रत्यपर्ण की राह में रोड़ा अटका रहा पाकिस्तान!

हौज काजी मंदिर में पूजा-पाठ फिर शुरू, दोनों पक्षों में सहमति
First published: July 3, 2019, 11:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...