अपना शहर चुनें

States

शताब्दी रॉय और तृणमूल के बीच बनी बात, सांसद बोलीं-मैं अब भी पार्टी के साथ

शताब्दी रॉय तृणमूल सांसद हैं.
शताब्दी रॉय तृणमूल सांसद हैं.

तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष (Kunal Ghosh) ने अभिनेत्री से नेता बनी रॉय (Shatabdi Roy) से शुक्रवार दोपहर में दक्षिण कोलकाता स्थित उनके आवास पर करीब एक घंटे की मुलाकात की. घोष ने रॉय से यह मुलाकात उनके द्वारा पार्टी छोड़ने के संकेत आने के बाद की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2021, 11:53 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल के बीरभूम से सांसद शताब्दी रॉय (Shatabdi Roy) ने अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) के प्रति अपना असंतोष जताया जिसके बाद राज्य में सत्तारूढ़ पार्टी ने स्थिति नियंत्रित करने के लिए उनसे संपर्क किया है.दोनों के बीच बात बनती हुई लग रही है. शताब्दी रॉय का कहना है कि मैं शनिवार 16 जनवरी को दिल्ली नहीं जा रही हूं. मेरी अभिषेक बनर्जी से बात हुई है, मैं अब भी तृणमूल के साथ हूं.

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस से कई नेता पार्टी छोड़ चुके हैं. तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष (Kunal Ghosh) ने अभिनेत्री से नेता बनी रॉय से शुक्रवार दोपहर में दक्षिण कोलकाता स्थित उनके आवास पर करीब एक घंटे की मुलाकात की. घोष ने रॉय से यह मुलाकात उनके द्वारा पार्टी छोड़ने के संकेत आने के बाद की.






शताब्दी रॉय से मिलने के बाद क्या बोले पार्टी नेता
घोष ने रॉय से मुलाकात के बाद के उनके आवास से निकलते हुए संवाददाताओं से कहा, ‘शताब्दी रॉय एक पुरानी मित्र हैं. मैं अपनी मित्र से मिलने के लिए आया था. मुझे यह भी पता चला है कि भाजपा नेता मुकुल रॉय ने उनसे सम्पर्क किया था और उनसे कहा कि वह कल दिल्ली के अपने दौरे के दौरान उनसे मुलाकात करें.’ तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं दमदम से सांसद सौगत रॉय ने कहा कि पार्टी उनकी शिकायतों को दूर करने का प्रयास करेगी और मुद्दों का समाधान करेगी.

फेसबुक पोस्ट के जरिए दावा
शताब्दी रॉय ने अपनी एक फेसबुक पोस्ट में दावा किया है कि उनके संसदीय क्षेत्र में चल रहे पार्टी के कार्यक्रमों के बारे में उन्हें नहीं बताया जा रहा है और इससे उन्हें 'मानसिक पीड़ा' पहुंची है. बीरभूम से तीन बार की सांसद रॉय ने कहा कि यदि वह कोई ‘फैसला’ करती हैं तो शनिवार अपराह्न दो बजे लोगों को उसके बारे में बताएंगी. उनकी इस पोस्ट से टीएमसी में हलचल मच गई. पार्टी सूत्रों के अनुसार रॉय के बीरभूम जिला टीएमसी प्रमुख अनुव्रत मंडल से मतभेद हैं.

रॉय ने अपने फैंस क्लब पेज पर फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘इस संसदीय क्षेत्र से मेरा निकट संबंध है. लेकिन हाल में कई लोग मुझसे पूछ चुके हैं कि मैं पार्टी के विभिन्न कार्यक्रमों से नदारद क्यों हूं. मैं उनको बताना चाहती हूं कि मैं सभी कार्यक्रमों में शरीक होना चाहती हूं लेकिन मुझे मेरे संसदीय क्षेत्र में आयोजित पार्टी कार्यक्रमों की जानकारी नहीं दी जा रही, तो मैं कैसे शरीक हो सकती हूं! इसके चलते मुझे मानसिक पीड़ा पहुंची है.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज