लाइव टीवी

अब हाफिज सईद के आतंकियों को मसूद अजहर का संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद देगा ट्रेनिंग

Sandeep Bol | News18Hindi
Updated: January 17, 2020, 2:25 PM IST
अब हाफिज सईद के आतंकियों को मसूद अजहर का संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद देगा ट्रेनिंग
इंटेलिजेंस रिपोर्ट के मुताबिक, अब हाफिज सईद के संगठन लश्‍कर के आतंकियों को मसूद अजहर का संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद ट्रेनिंग देगा.

इंटेलिजेंस रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्‍तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) भारत (India) में हमले करने के लिए अपनी जमीन से संचालित आतंकी संगठनों (Terror Organisations) को एकजुट कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2020, 2:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारतीय सेना के ऑपरेशन ऑल आउट ने पाकिस्तान (Pakistan) के आतंकी संगठनों की कमर तोड़ दी है. पाकिस्‍तान से संचालित लश्कर-ए-तैयबा (LeT) की तो पूरी की पूरी जमात को ही कश्मीर घाटी (Kashmir Valley) से साफ कर दिया गया है. हाफिज सईद (Hafiz Saeed) के आतंकी संगठन लश्‍कर के घाटी में मौजूद सभी कमांडर ढेर कर दिए गए है. इसके बाद घबराए आतंकियों ने अपने संगठन के कमांडरों के नाम का ऐलान करना ही बंद कर दिया है. पाकिस्‍तानी आतंकी संगठनों (Terror Organisation) के लिए घाटी में लगातार बढ़ रही मुश्किलों से निजात पाने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) ने नई तरकीब निकाली है. अब पाकिस्तान ने लश्कर और जैश-ए-मोहम्‍मद (JeM) को एकजुट कर भारत के खिलाफ अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं.

हमजा ने मसूद के भाई से बहावलपुर में की मुलाकात
इंटेलिजेंस रिपोर्ट से पता चला है कि अंतरराष्‍ट्रीय आतंकी मसूद अजहर (Masood Azhar) का संगठन जैश-ए-मोहम्मद अब लश्कर के आतंकियों को ट्रेनिग देगा. हाफिज सईद के संगठन जमात-उद-दावा (JuD) के सेक्रेटरी आमिर हमजा ने बहावलपुर में मसूद अजहर के भाई मौलाना अम्मार से मुलाकात की है. इस दौरान जैश और लश्कर के कई कमांडर मौजूद थे. बैठक में आमिर हमजा ने जैश के लीडर्स के सामने लश्कर के पूरे ट्रेनिंग प्रोग्राम की जानकारी दी. इस बैठक में लिया गया फैसला चौंकाने वाला है. जैश ने लश्‍कर के 15-20 आतंकियों को खैबर पख्‍तूनख्वा (Khyber Pakhtunkhwa) के कोहट में चल रहे अपने ट्रेनिग कैंप (Terror Camp) का हिस्सा बनने को कहा. साफ है कि अब हाफिज के आतंकियों को मसूद के आतंकी ट्रेनिंग देंगे.

जैश अपने 15 आतंकियों को भेज रहा है रावलपिंडी

जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) से अनुच्‍छेद-370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से ही घाटी में आतंकी संगठनों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. अब सुरक्षाबलों (Security Forces) की बढ़ी हुई चौकसी के कारण आतंकी किसी वारदात को अंजाम नहीं दे पा रहे हैं. वहीं, उन्‍हें कश्मीर के युवाओं को बरगलाकर आतंकी संगठनों में शामिल करने में भी कामयाबी नहीं मिल पा रही है. ऐसे में पाकिस्तान अपनी जमीन पर मौजूद आतंकियों को नए हालात के मुताबिक फिर से ट्रेनिंग देना चाहता है. जैश के आतंकी अफगानिस्‍तान (Afghanistan) में भी सक्रिय हैं. ऐसे में आईएसआई उनकी ट्रेनिंग का फायदा लश्कर को भी दिलवाना चाहती है. रिपोर्ट में सामने आया है कि जैश लश्कर के आतंकियों को ट्रेनिंग देने के लिए अपने 15 कमांडर्स को बहावलपुर से रावलपिंडी भेज रहा है.

जैश ने सक्रिय कर दिए हैं अपने सभी लॉन्‍च पैड
इंटेलिजेंस रिपोर्ट के मुताबिक, कश्मीर में जैश के ऑपरेशन देखने वाले मुफ्ती मोहम्मद अजघर खान कश्मीरी ने पाक अधिकृत कश्‍मीर (PoK) में लश्कर से संपर्क साधा है. जैश ने अगले महीने यानी फरवरी में नियंत्रण रेखा (LoC) और अंतरराष्‍ट्रीय सीमा (IB) से घुसपैठ (Infiltration) कराने के लिए अपने सभी लॉन्‍च पैड (Launch Pads) सक्रिय कर दिए हैं. सूत्रों के मुताबिक, आईएसआई ने 8 जनवरी को जैश के ऑपरेशन कमांडर और मसूद अजहर के भाई रउफ अजघर को इस्लामाबाद (Islamabad) बुलाकर मुलाकात की थी. इस दौरान आईएसआई ने जम्मू-कश्मीर में जैश के ऑपरेशन को मंजूरी दे दी. अब रउफ खुद आतंकी कैंप और लॉन्‍च पैड के निरीक्षण के लिए जल्द ही मुजफ्फराबाद और कोटली जाने वाला है.ये भी पढ़ें:

ADR की रिपोर्ट: इलेक्‍टोरल बांड से बीजेपी को हुई सबसे ज्‍यादा कमाई

ANALYSIS: क्‍यों सोनिया गांधी नहीं कर पाईं 2004 जैसी विपक्षी एकता का करिश्‍मा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 2:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर