कोरोना वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के लिए अब इस कंपनी ने मांगी सरकार से इजाजत

जाइकोव-डी वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के लिए सरकार से मांगी गई मंजूरी.

जायडस कैडिला (Zydus Cadila) ने दावा किया है कि उनकी जाइकोव-डी वैक्सीन (ZyCOV-D Vaccine) को पहले और दूसरे चरण के क्लिनिकल परीक्षण में पूरी तरह से सुरक्षित, कारगर और वायरस को लेकर प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला पाया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दुनियाभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) को पूरी तरह से खत्म करने के लिए कई तरह की वैक्सीन का ट्रायल किया जा रहा है. कुछ देशों में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लोगों को दी भी जाने लगी है तो कई देश अभी भी वैक्सीन (Vaccine) का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. खबर आई है कि दवा कंपनी जायडस कैडिला (Zydus Cadila) ने सरकार से तीसरे चरण के क्लिनिकल परीक्षण के लिए मंजूरी मांगी है. जायडस कैडिला ने दावा किया है कि उनकी जाइकोव-डी वैक्सीन (ZyCOV-D Vaccine) को पहले और दूसरे चरण के क्लिनिकल परीक्षण में पूरी तरह से सुरक्षित, कारगर और वायरस को लेकर प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला पाया है.

    जायडस कैडिला ने कहा, कंपनी ने कोरोनावायरस से लड़ने के लिए जिस प्लाजमिड डीएनए टीका, जायकोव-डी को तैयार किया है उसे पहले ओर दूसरे क्लिनिकल परीक्षण में पूरी तरह से सुरक्षित और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला पाया गया है. कंपनी ने कहा है कि हम इस वैक्सीन के तीसरे चरण की तरफ बढ़ रहे हैं. सरकार से तीसरे चरण की मंजूरी मिलने के बाद हम करीब 30,000 स्वयंसेवकों पर क्लिनिकल परीक्षण की योजना बना रहे हैं.

    कंपनी ने बताया कि जाइकोव-डी के दूसरे चरण में 1 हजार स्वस्थ्य व्यस्क स्वयंसेवकों ने हिस्सा लिया था. परीक्षण की समीक्षा स्वतंत्र डाटा सेफ्टी मॉनिटरिंग बोर्ड (डीएसएमबी) ने किया है और इस बारे में रिपोर्ट औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) के पास जमा की गई है.

    इसे भी पढ़ें :- अधिक संक्रामक है कोरोना वायरस का नया प्रकार, हो सकती हैं ज्यादा मौतें: स्टडी



    एम्स को वैक्सीन के ट्रायल के लिए नहीं मिल ​रहे वालंटियर्स
    कोरोना वायरस की मार झेल रही सारी दुनिया में अब तक लाखों लोगों की इस संक्रमण के कारण मौत हो चुकी है. अमेरिका सहित कई अन्य देशों में कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोगों को वैक्सीन दी जा रही है. वहीं, भारत में भी कई कंपनियां कोरोना की वैक्सीन तैयार कर रही है. हालांकि वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के लिए वालंटियर्स नहीं मिल रहे हैं. वालंटियर्स न मिलने के कारण ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस ने एक विज्ञापन जारी किया है जिसमें लोगों से तीसरे चरण के ट्रायल का हिस्सा बनने को कहा गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.