स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी टीका, रिकवरी के 3 महीने बाद दूसरा डोज

वैक्सीनेशन के नए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

वैक्सीनेशन के नए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

इससे पहले तक गर्भवती (Pregnant) और स्तनपान कराने वाली महिलाओं (Lactating Women) को कोरोना वैक्सीनेशन प्रक्रिया से अलग रखा गया था. लेकिन अब स्तनपान कराने वाली महिलाओं को वैक्सीनेशन की छूट दे दी गई है. हालांकि गर्भवती महिलाओं के वैक्सीनेशन को लेकर अभी विचार जारी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने बुधवार को कहा है कि अब स्तनपान कराने वाली महिलाएं (Lactating Women) भी कोरोना वैक्सीनेशन करवा सकती हैं. इसके अलावा मंत्रालय ने कहा है कि अब कोरोना से रिकवरी के तीन महीने बाद वैक्सीन ली जा सकती है. ये नए बदलाव कोरोना पर नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप द्वारा दिए गए सुझावों के आधार पर लिए गए हैं.

सरकार ने यह भी कहा है कि अगर कोई व्यक्ति वैक्सीन के पहले डोज के बाद कोरोना संक्रमित हो जाता है तो उसे रिकवरी के तीन महीने बाद ही दूसरा डोज लेना होगा. साथ ही अब वैक्सीनेशन के पहले रैपिड एंटिजेन टेस्ट करवाने की भी जरूरत नहीं होगी.

Youtube Video

गर्भवती महिलाओं के वैक्सीनेशन को लेकर अभी विचार जारी
इससे पहले तक गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को कोरोना वैक्सीनेशन प्रक्रिया से अलग रखा गया था. लेकिन अब स्तनपान कराने वाली महिलाओं को वैक्सीनेशन की छूट दे दी गई है. हालांकि गर्भवती महिलाओं के वैक्सीनेशन को लेकर अभी विचार जारी है. इस बारे में आगे जानकारी दी जाएगी.

वैक्सीनेशन कार्यक्रम में अब तक 18.57 करोड़ डोज लगाए जा चुके

देश में चल रहे वैक्सीनेशन कार्यक्रम में अब तक 18.57 करोड़ डोज लगाए जा चुके हैं. 18-44 आयु समूह के 6460624 लोगों को वैक्सीन का पहला डोज दिया जा चुका है. बता दें देश में कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम की शुरुआत 16 मई से की गई थी. अब तक मुख्य तौर पर कोविशील्ड और कोवैक्सीन के जरिए ही वैक्सीनेशन कार्यक्रम चलाया जा रहा था. इस महीने से अब रूसी वैक्सीन स्पूतनिक भी कार्यक्रम में शामिल कर ली गई है.



(RUNJHUN SHARMA की रिपोर्ट)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज