अब मंज़िल से ज़्यादा प्यारा होगा सफर

हाजरा बी | News18Hindi
Updated: September 17, 2017, 11:58 PM IST
अब मंज़िल से ज़्यादा प्यारा होगा सफर
pic : Suresh Prabhu,twitter
हाजरा बी | News18Hindi
Updated: September 17, 2017, 11:58 PM IST
त्योहारों और छुट्टियों के इस मौसम में अगर आप गोवा जाने का प्लान कर रहे है हो तो एक नज़र इस खबर पर जरुर डाल लें.

मध्य रेलवे में जनशताब्दी एक्सप्रेस में विस्ताडोम (ग्लास सीलिंग कोच) कोच को जोड़कर इस ट्रेन की शान में और बढ़ोतरी की जा रही है.

क्या है ख़ास...

40 कुर्सियां

चौड़े कांच की खिड़कियां
12 हैंगिंग एलसीडी
1 छोटा फ्रिज और फ्रीज़र
1 ओवन
1 जूसर
हॉट केस
ग्लास सीलिंग
नया डिजाईन किया गया लगेज रेक
सिरेमिक टाइल लगे बाथरूम

यह किसी हॉटल के कमरे का ज़िक्र नहीं हो रहा है बल्कि यह सारी सुविधाएं जनशतब्दी एक्सप्रेस में जुड़े विस्ताडोम कोच मे प्राप्त होने वाली है.

जनशताब्दी एक्सप्रेस में विस्ताडोम कोच को जोड़ा जा रहा है. यह कोच अपने आप में एक अनोखा है. इसकी ग्लास सीलिंग, पनोर्मिक खिड़किया और इस से नज़र आने वाला पनोर्मिक नज़ारा हर यात्री को एक अनोखा अनुभव देगा.  यात्री यदि और बेहतर नज़ारे का आनन्द उठाना चाहते है तो वह कोच में बनाये गए स्पेशल ऑब्जरवेशन लाउन्ज में जा सकते है.

इस लाउन्ज में मल्टी-टियर लगेज रैक भी है. इस कोच में रोटेबल कुर्सियाँ को साथ एलईडी लाइट और स्लाइडिंग कम्पार्टमेंट दरवाज़े जैसी और भी कई सुविधाएँ मुहैया कराई गई है. इन सारी सुविधाओं के साथ अब गोवा का सफर और भी मज़ेदार होने वाला है.

देश में यह दूसरी विस्ताडोम कोच होगा, क्योंकि ऐसा पहला कोच विशाखापटनम से अरकू वैली के बीच चलता है.

यह ट्रेन बरसात के मौसम में हफ्ते में तीन दिन चलेगी लेकिन बरसात के मौसम के बाद इसे हफ्ते में 6 दिन चलाया जायेगा. यह कोच अपनी ट्रेन के साथ अपनी पहली यात्रा की शुरुवात 18 सितंबर को करेगा.

इस कोच को शामिल करने का सबसे मुख्य कारण यही है कि यात्रियों को ट्रेन से सफर करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए. चूँकि  लोग हवाई उड़ान की ओर ज़्यादा बढ़ते जा रहे है तो ऐसे में मध्य रेलवे के इस प्रयास से ज़्यादा से ज़्यादा यात्रियों को वापस ट्रेन यात्रा की ओर आकर्षित करने का प्रयास किया जा रहा है.
First published: September 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर