लाइव टीवी

शरद पवार का आरोप-ऐलगार परिषद मामले में फडणवीस सरकार ने पुलिस का दुरुपयोग किया

भाषा
Updated: February 18, 2020, 7:06 PM IST
शरद पवार का आरोप-ऐलगार परिषद मामले में फडणवीस सरकार ने पुलिस का दुरुपयोग किया
महाराष्ट्र सरकार में शिवसेना और एनसीपी के बीच कई मामलों को लेकर एक राय नहीं बन पाई है. फोटो. पीटीआई

राकांपा प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने मंगलवार को दावा किया कि महाराष्ट्र की पूर्ववर्ती देवेन्द्र फडणवीस सरकार (Devendra Fadnavis government) ने ऐलगार परिषद वाले मामले में पुलिस मशीनरी का दुरुपयोग किया है.

  • Share this:
मुंबई. राकांपा प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने मंगलवार को दावा किया कि महाराष्ट्र की पूर्ववर्ती देवेन्द्र फडणवीस सरकार (Devendra Fadnavis government) ने ऐलगार परिषद वाले मामले में पुलिस मशीनरी का दुरुपयोग किया है. पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि ऐलगार परिषद मामला( Elgaar Parishad case) और एक जनवरी, 2018 में पुणे जिले के कोरेगांव-भीमा की घटना, दोनों अलग-अलग मामले हैं. यहां संवाददाताओं से बातचीत में पवार ने कहा कि फडणवीस नीत भाजपा सरकार और पुणे पुलिस ने ऐलगार परिषद मामले में अपने अधिकारों का दुरुपयोग किया.

उन्होंने इस मामले में पुणे पुलिस के व्यवहार और फडणवीस नीत सरकार द्वारा अधिकारों के दुरुपयोग की जांच के लिए एसआईटी के गठन की मांग की. पवार ने बताया कि केन्द्र ने मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी को सौंप दी क्योंकि उन्हें डर था कि सच्चाई बाहर आ जाएगी. उन्होंने कहा कि ऐलगार परिषद (Elgaar Parishad case) के कार्यकर्ताओं को आक्रामक कहा जा सकता है, लेकिन उन्हें राजद्रोही नहीं कह सकते. शरद पवार ने कहा कि कोरेगांव-भीमा हिंसा हिन्दूत्व कार्यकर्ताओं मिलिंद एकबोटे और सम्भाजी भिडे द्वारा पैदा किए गए ‘अलग माहौल’का नजीता था.



 उद्धव ठाकरे ने दी सफाई दोनों केस अलग-अलग
उधर इस मामले में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि एल्गार परिषद केस और भीमा कोरेगांव मामले अलग अलग हैं. भीमा कोरेगांव मामला राज्य के दलित लोगों से जुड़ा हुआ है. इसे हमने अब तक केंद्र सरकार को नहीं दिया है. इसे हम केंद्र सरकार को सौंपेंगे भी नहीं. केंद्र के पास सिर्फ एल्गार परिषद केस है.

शरद पवार हैं राज्य सरकार के फैसलों से नाखुश
माना जा रहा है कि जिस तरह से उद्धव ठाकरे सरकार ने एल्गार परिषद केस को एनआईए के हवाले किया है, उस कारण शरद पवार सरकार से नाखुश हैं. हालांकि उन्होंने इस मु्द्दे पर खुलकर कुछ नहीं कहा है, लेकिन वह पूरे घटनाक्रम से सहमत नहीं हैं. एनपीआर और एनआरसी वाले मुद्दे पर भी उन्होंने कहा, ठाकरे का मत भले अलग हो, लेकिन एनआरसी और एनपीआर पर हम संसद में अपनी असहमति जता चुके हैं.

यह भी पढ़ें...

'PoK में लॉन्च पैड आतंकवादियों से ‘ फुल’ लेकिन हम दे रहे हैं कड़ा जवाब'

चलती ट्रेन के दरवाजे पर लटका हुआ था लड़का, हाथ फिसला और...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 7:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर