असम में नागरिकता साबित नहीं कर पाए 19 लाख लोग- जानें NRC की 10 खास बातें

यहां जानें क्या हैं 31 अगस्त को जारी हुई NRC Assam की खास बातें

News18Hindi
Updated: August 31, 2019, 2:14 PM IST
असम में नागरिकता साबित नहीं कर पाए 19 लाख लोग- जानें NRC की 10 खास बातें
एनआरसी के राज्य समन्वयक कार्यालय के एक बयान में कहा गया है कि इनमें से 3,11,21,004 को शामिल किया गया जबकि 19,06,657 निष्कासित किए गए हैं.
News18Hindi
Updated: August 31, 2019, 2:14 PM IST
असम में बहुप्रतीक्षित अपडेटेड नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन्स ( National Register of Citizens -NRC) शनिवार को जारी किया गया, जिसमें 19 लाख से अधिक लोगों के नाम शामिल नहीं हैं. NRC में शामिल होने के लिए कुल 3,30,27,661 लोगों ने आवेदन किया था.

क्या हैं 31 अगस्त को जारी हुई NRC की खास बातें

1- एनआरसी के राज्य समन्वयक कार्यालय (NRC State Coordinator's office) के एक बयान में कहा गया है कि इनमें से 3,11,21,004 को शामिल किया गया जबकि 19,06,657 निष्कासित किए गए हैं.

2- एनआरसी के स्टेट कोआर्डिनेटर प्रतीक हजेला का कहना है कि 3,11,21,004 लोगों को अंतिम सूची में शामिल करने के लिए योग्य पाया गया.

3- हजेला ने बताया कि 'जो लोग परिणाम से संतुष्ट नहीं हैं, वे विदेशी ट्रिब्यूनल के समक्ष अपील दायर कर सकते हैं.'

4- 19,06,657 लोग एनआरसी से बाहर हैं, जिनमें वे लोग भी शामिल हैं जिन्होंने अपने दावे प्रस्तुत नहीं किए हैं. NRC से बचे हुए प्रत्येक व्यक्ति विदेशी ट्रिब्यूनल में अपील कर सकते हैं

5- अपील दायर करने की समय सीमा 60 से 120 दिनों तक बढ़ा दी गई है.
Loading...

यह भी पढ़ें:   दिल्ली में NRC की जरूरत, अवैध प्रवासी खतरनाक- मनोज तिवारी

3,30,27,661 ने किया था आवेदन 

6- असम के नागरिकों की संशोधित सूची में शामिल होने के लिए कुल 3,30,27,661 ने आवेदन किया था. इन्क्लूश़नऔर निष्कासन दोनों की स्टेटस को एनआरसी की वेबसाइट www.nrcassam.nic.in पर ऑनलाइन देखा जा सकता है.

7- करीब 20वीं सदी की शुरुआत से ही बांग्लादेश से अवैध घुसपैठियों की समस्या से जूझ रहा असम अकेला राज्य है जहां पहली बार 1951 में राष्ट्रीय नागरिक पंजी तैयार किया गया था. तब से ऐसा पहली बार है जब एनआरसी अपडेट किया गया है.

41 लाख लोगों को निकाल दिया गया था..

8- एक ड्राफ्ट सूची में लगभग 41 लाख लोगों को निकाल दिया गया था. 36 लाख से अधिक लोगों ने अपने नाम शामिल करने के लिए नए आवेदन किए.

9- सरकार के आंकड़ों के अनुसार, एनआरसी के मसौदे में कुल 3.29 करोड़ आवेदकों में से 87.85 प्रतिशत को शामिल किया गया, जिसमें लगभग 40 लाख लोग या 12.15 प्रतिशत लोग शामिल थे.

10-  बयान में कहा गया है कि अंतिम सूची सुबह 10 बजे प्रकाशित की गई थी और एनआरसी सेवा केंद्रों (NSK-एनएसके), डिप्टी कमिश्नर के कार्यालयों और सर्कल ऑफिसर के कार्यालयों में जनता के देखने के लिए उपलब्ध सूची की सप्लीमेंट्री लिस्ट की हार्ड कॉपी उपलब्ध है.

यह भी पढ़ें:  इस शख्स की वजह से असम में लागू हुआ NRC, जानें 10 साल का सफर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 31, 2019, 1:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...