Home /News /nation /

nsa ajit doval tells chinese foreign minister wang yi for complete disengagement in lac

चीनी विदेश मंत्री से बोले अजीत डोभाल- बॉर्डर से सेना हटाओ, तभी आगे बढ़ेगी बात

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने चीन के विदेश मंत्री वांग यी से बात की.

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने चीन के विदेश मंत्री वांग यी से बात की.

India-China Border Dispute: न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, भारत ने शांति की बहाली के लिए राजनयिक, सैन्य स्तर पर सकारात्मक बातचीत जारी रखने की जरूरत पर जोर दिया है. अजीत डोभाल ने वांग यी से कहा है कि सुनिश्चित किया जाए कि कार्रवाई समान और परस्पर सुरक्षा की भावना का उल्लंघन नहीं करती है. एक ही दिशा में काम करें और बकाया मुद्दों को जल्द से जल्द सुलझाएं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. चीनी विदेश मंत्री वांग यी (Wang Yi) आज से भारत दौरे पर हैं. इस दौरान भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (National Security Adviser Ajit Doval) ने चीन के विदेश मंत्री को साफ लहजे में कह दिया है कि जब तक वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control -LAC) से चीनी सेना नहीं हटाई जाएगी, तब तक दोनों देशों के बीच कोई बात नहीं हो सकती. डेढ़ घंटे तक चली इस बातचीत के दौरान भारत ने कहा है बॉर्डर क्षेत्र के बचे हुए इलाके में जल्द और पूरी तरह से सेना को हटाए जाने की जरूरत है, ताकि द्विपक्षीय संबंध स्वाभाविक रास्ते पर आ सकें.

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, भारत ने शांति की बहाली के लिए राजनयिक, सैन्य स्तर पर सकारात्मक बातचीत जारी रखने की जरूरत पर जोर दिया है. अजीत डोभाल ने वांग यी से कहा है कि सुनिश्चित किया जाए कि कार्रवाई समान और परस्पर सुरक्षा की भावना का उल्लंघन नहीं करती है. एक ही दिशा में काम करें और बकाया मुद्दों को जल्द से जल्द सुलझाएं.

PM मोदी भी जा सकते हैं चीन! वांग यी की भारत यात्रा के हैं कई मायने, जानिए सबकुछ

अजीत डोभाल को मिला चीन आने का न्योता
इस बीच चीन के विदेश मंत्री ने अजीत डोभाल से बातचीत को आगे बढ़ाने के लिए चीन का दौरा करने का न्योता दिया है. इस पर डोभाल ने सकारात्मक प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह तत्काल मुद्दों को सफलतापूर्वक हल करने के बाद चीन की यात्रा कर सकते हैं. डोभाल ने यह भी कहा कि मौजूदा हालात किसी के भी हित में नहीं हैं और शांति से ही दोनों का एक दूसरे के प्रति विश्वास जागेगा.

2020 में दोनों ने की थी लंबी बातचीत
अजीत डोभाल और वांग यी ने पूर्वी लद्दाख में तनाव को कम करने को लेकर जुलाई 2020 में फोन पर लंबी बातचीत की थी. भारत और चीन पूर्वी लद्दाख में गतिरोध का हल निकालने के लिए उच्च स्तरीय सैन्य वार्ता भी कर रहे हैं. दोनों पक्षों ने बातचीत के बाद कुछ स्थानों से अपने सैनिक वापस भी बुलाए हैं.

India-China: अघोषित दौरे पर भारत पहुंचे चीन के विदेश मंत्री, यात्रा को गुप्‍त रखा गया

11 मार्च को हुई थी 15वें दौर की बात
बता दें कि पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में लंबित मुद्दों को हल करने के लिए 11 मार्च को भारत और चीन के बीच 15वें दौर की उच्च स्तरीय सैन्य वार्ता हुई थी. हालांकि, वार्ता में कोई समाधान नहीं निकल पाया था.

15 जून 2020 को गलवान में हुई थी हिंसा
आपको बता दें कि पैंगोंग झील के इलाकों में भारत और चीन की सेनाओं के बीच विवाद के बाद पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून, 2020 को हिंसक संघर्ष से तनाव बढ़ गया था. इसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे. चीन के कई सैनिक भी मारे गए थे. चीन के भी 35 सैनिकों के मारे जाने की खबरें अंतरराष्ट्रीय मीडिया में थीं. हालांकि, चीन ने आधिकारिक तौर पर अपने मारे गए सैनिकों की संख्या सिर्फ 4 बताई है.

Tags: Ajit Doval, China, Chinese army in Ladakh, India china border dispute, India china stand off, LAC India China

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर