Home /News /nation /

nse co location scam cbi searching brokers at more than 10 locations in delhi mumbai

NSE घोटाले में ब्रोकरों पर CBI का शिकंजा, दिल्ली-मुंबई समेत 10 से ज्यादा ठिकानों पर पड़े छापे

नेशनल स्टाक एक्सचेंज. (सांकेतिक फोटो)

नेशनल स्टाक एक्सचेंज. (सांकेतिक फोटो)

NSE घोटाले से जुड़े को-लोकेशन मामले में सीबीआई की कई शहरों में छापेमारी चल रही है. को-लोकेशन मामला एनएसई के कंप्यूटर सर्वर से सूचनाओं को गलत तरीके से शेयर ब्रोकर्स तक पहुंचाने से जुड़ा है. आरोप है कि इन सूचनाओं की बदौलत ब्रोकरों ने मार्केट से अप्रत्याशित लाभ कमाया.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. नेशनल स्टाक एक्सचेंज (एनएसई) घोटाले से जुड़े को-लोकेशन मामले में सीबीआई ने शनिवार को 10 से ज्यादा शहरों में छापेमारी शुरू की है. इस दौरान एनएसई से जुड़े ब्रोकरों के ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है. ये कार्रवाई दिल्ली, मुंबई, गांधीनगर, नोएडा, गुड़गांव और कोलकाता समेत कई शहरों में की जा रही है. समाचार एजेंसी एएनआई ने अधिकारियों के हवाले से बताया है कि सीबीआई के निशाने पर एक दर्जन से ज्यादा ठिकाने हैं.

सीबीआई इस मामले में एनएसई की पूर्व सीईओ और एमडी चित्रा रामकृष्ण और ग्रुप ऑपरेटंग ऑफिसर आनंद सुब्रमण्यम के खिलाफ पहले ही चार्जशीट दाखिल कर चुकी है. को-लोकेशन मामला एनएसई के कंप्यूटर सर्वर से सूचनाओं को गलत तरीके से शेयर ब्रोकर्स तक पहुंचाने से जुड़ा है. आरोप है कि इन सूचनाओं की बदौलत ब्रोकरों ने मिलीभगत करके मार्केट से अप्रत्याशित लाभ कमाया. सीबीआई इस मामले में दिल्ली के ओपीजी सिक्योरिटीज के मालिक और स्टॉक ब्रोकर संजय गुप्ता के खिलाफ केस दर्ज कर चुकी है. सीबीआई का कहना है कि इस पूरे मामले में सेबी, एनएसई को मुंबई और अन्य जगहों के कई अधिकारी भी शामिल हो सकते हैं, जिनकी छानबीन की जा रही है.

सीबीआई ने अप्रैल में चित्रा और सुब्रमण्यम के खिलाफ दायर आरोपपत्र में कहा था कि चित्रा 1 अप्रैल 2013 को एनएसई की मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक नियुक्त की गई थीं. चित्रा ही आनंद और उनकी पत्नी सुनीता आनंद को एनएसई में लेकर आई थीं. उन्होंने दोनों के वेतन में बेतहाशा बढ़ोतरी भी की थी. आनंद का वेतन पहले 15 लाख रुपये था, जिसे बढ़ाकर 1.68 करोड़ और बाद में 4.21 करोड़ सालाना कर दिया गया था.

सीबीआई का कहना था कि चित्रा जिस हिमालय के योगी के कहने पर एनएसई के कामकाज में सलाह लिया करती थीं, वो कोई और नहीं बल्कि आनंद सुब्रमण्यम ही थे. मामले का खुलासा होने पर सेबी ने चित्रा पर एनएसई की गोपनीय जानकारियां साझा करने के आरोप में तीन करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया था. फिलहाल चित्रा और आनंद दोनों ही तिहाड़ में बंद हैं. चित्रा ने दिल्ली हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है, जिस पर शुक्रवार को कोर्ट ने सीबीआई से जवाब मांगा है.

Tags: CBI, CBI Raid, NSE, Share market

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर