लाइव टीवी

NSG का CRPF में होगा मर्जर! DG ने कहा- मुझे ऐसी कोई जानकारी नहीं

News18Hindi
Updated: February 12, 2020, 1:40 PM IST
NSG का CRPF में होगा मर्जर! DG ने कहा- मुझे ऐसी कोई जानकारी नहीं
एनएसजी डीजी अनूप सिंह

बीते दिनों खबर थी कि सरकार CRPF-NSG, ITBP-SSB के मर्जर पर विचार कर रही है. अब इस पर NSG के डीजी ने टिप्पणी की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 12, 2020, 1:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) और नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG) के मर्जर के कथित प्रस्ताव पर एनएसजी के महानिदेशक अनूप सिंह ने कहा है कि उन्हें ऐसे किसी भी प्रस्ताव की जानकारी नहीं है. समाचार एजेंसी ANI के अनुसार NSG और CRPF के कथित विलय के प्रस्ताव पर सिंह ने कहा, 'ऐसी किसी भी बात की जानकारी नहीं है. एनएसजी हमारे राष्ट्र की एलीट एजेंसी है.  यह हमारी  ऐसी शक्ति है जो किसी भी वक्त कहीं भी पहुंच सकती है और दुनिया की सर्वश्रेष्ठ सेनाओं में से एक है. इसका अपना ढांचा है और मुझे उम्मीद है कि यह  ऐसे ही जारी रहेगा.'

बीते महीने समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा की ओर से जारी एक रिपोर्ट में कहा गया था कि सरकार विभिन्न अर्धसैनिक बलों को कहीं अधिक चुस्त-दुरुस्त और सुगठित लड़ाकू इकाइयों में तब्दील करने पर विचार कर रही है. इसके लिए इन बलों का विलय करना और एक आयुसीमा के बाद जवानों को कठिन ड्यूटी पर नहीं लगाने जैसे कदम उठाए जाने की संभावना है. बीते महीने हुए एक बैठक में प्रस्तावित किया गया था कि देश के सबसे बड़े अर्धसैनिक बल सीआरपीएफ का आतंक रोधी कमांडो एनएसजी के साथ विलय करने का है.

अधिकारियों ने बताया था कि ये दोनों बल एक दूसरे से बिल्कुल ही बहुत अलग हैं लेकिन संभवत: दोनों बलों के लिए एक कमांड के बारे में चर्चा चल रही है. केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) कानून व्यवस्था कायम रखने वाला, नक्सल रोधी और उग्रवाद रोधी प्रमुख बल है, जबकि एनएसजी आतंकवाद रोधी और हाईजैक रोधी अभियानों के लिए शीर्ष संघीय बल है. अधिकारियों ने बताया कि इनके विलय का प्रस्ताव अभी सिर्फ चर्चा के स्तर पर है और इसे स्वीकार करने या खारिज करने से पहले कई अन्य मुद्दों पर जांच की जाएगी.



ITBP-SSB का विलय!
PTI-भाषा की रिपोर्ट के अनुसार अधिकारी ने बताया था कि यह चर्चा की जा रही है कि चीन और नेपाल जैसे देशों से लगे समूचे पूर्वी क्षेत्र की सीमा की पहरेदारी के लिए क्या सीमा पर पहरेदारी कर रहे दो बलों, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) और सशस्त्र सीमा बल (SSB) का विलय कर एक इकाई गठित की जा सकती है. वर्तमान में दोनों बलों के कार्य अलग-अलग हैं. आईटीबीपी चीन से लगी 3,488 किमी लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) की पहरेदारी करता है जबकि एसएसबी नेपाल से लगी 1,751 किमी लंबी सीमा और भूटान से लगी 699 किमी सीमा की पहरेदारी करता है.

एक अन्य अधिकारी ने कहा था कि इस विषय पर कुछ चर्चा हुई है लेकिन इन दो बलों का विलय करने से पहले इस कदम के नफा-नुकसान पर विचार करना होगा क्योंकि ऐसा कोई कदम करगिल युद्ध के बाद लिए गए उस नीतिगत फैसले के खिलाफ होगा, जिसके तहत एक सीमा के लिए एक बल का फैसला लिया गया था. दोनों बलों में एक लाख से कम कर्मी हैं. इस विषय पर और अधिक चर्चा हो रही है और किसी भी चीज को अंतिम रूप नहीं दिया गया है.यह भी पढ़ें: मकबूल बट्ट की बरसी: कश्‍मीर में निलंबित इंटरनेट सेवा शाम को बहाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 1:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर