अपना शहर चुनें

States

राहुल गांधी के एक और भरोसेमंद ने छोड़ा साथ, NSUI प्रभारी रुचि गुप्ता ने दिया इस्तीफा

केसी वेणुगोपाल राव कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के काफी भरोसेमंद माने जाते हैं.  (PTI Photo/Vijay Verma)
केसी वेणुगोपाल राव कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के काफी भरोसेमंद माने जाते हैं. (PTI Photo/Vijay Verma)

कांग्रेस (Congress) के 23 बड़े नेता पहले ही पार्टी के सामने अपनी नराजागी जाहिर कर चुके हैं. ये सभी पार्टी में शीर्ष नेतृत्व पर सवाल उठा रहे हैं और बदलाव की मांग कर रहे थे. बिहार चुनाव और कई राज्यों में हुए उपचुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद पार्टी के अंदर अंतर्कलह बढ़ गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 19, 2020, 3:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस के परेशानियां लगातार बढ़ रही हैं. शनिवार को नेशनल स्टूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI) की प्रभारी रुचि गुप्ता (Ruchi Gupta) ने पार्टी से इस्तीफा (resign) दे दिया है. गुप्ता ने अपने इस्तीफे का कारण संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल राव (KC Venugopal Rao) को बताया है. उन्होंने लिखा है कि महासचिव संगठनात्मक बदलावों में हो रही देरी के लिए जिम्मेदार हैं. इसी देरी के चलते उन्होंने पार्टी छोड़ने का फैसला किया है. गौरतलब है कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) शनिवार को पार्टी में बदलाव को लेकर बैठक कर रही हैं.

रुचि ने लिखा 'सभी प्रिय मैं यह घोषणा करने के लिए लिख रही हूं कि मैंने इस्तीफा दे दिया है. जैसा की आप सभी जानते हैं कि संगठन में बदलाव काफी समय से रुके हुए हैं. राष्ट्रीय समिति ने एक साल तीन महीनों का समय लिया. वहीं, प्रदेश अध्यक्ष के आदेश महीनों से अटके हुए हैं.' उन्होंने लिखा 'कई दूसरे राज्यों में बदलावों के लिए इंतजार किया जा रहा है, ताकि नए कार्यकर्ताओं को जगह मिल सके.'

यह भी पढ़ें: कांग्रेस के उन नाराज नेताओं से आज मिलेंगी सोनिया गांधी जिन्होंने पार्टी की बदहाली पर लिखी थी चिट्ठी



गुप्ता ने पार्टी के भीतर हो रही देरी का सीधा आरोप संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल पर लगाया है. खास बात है कि राव कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के काफी भरोसेमंद माने जाते हैं. उन्होंने लिखा 'संगठन महासचिव की तरफ से हो रही लगातार देरी ने संगठन को नुकसान पहुंचाया है, लेकिन मौजूदा हालात में कांग्रेस अध्यक्ष के तक यह बढ़ाना मुमकिन नहीं है.' गुप्ता ने लिखा है कि हालात अस्थिर हो गए हैं.

उन्होंने आभार जताते हुए लिखा 'कठिन परिश्रम के लिए सभी का शुक्रिया, खासतौर से महामारी के इस मुश्किल दौर में. मैं यह बताना चाहती हूं कि आप सभी की मेहनत ऐसे ही खराब नहीं होगी. मैं आप सभी के लिए राहुल जी तक जानकारी भेज रहीं हूं.' कांग्रेस के 23 बड़े नेता पहले ही पार्टी के सामने अपनी नराजागी जाहिर कर चुके हैं. ये सभी पार्टी में शीर्ष नेतृत्व पर सवाल उठा रहे हैं और बदलाव की मांग कर रहे थे. बिहार चुनाव और कई राज्यों में हुए उपचुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद पार्टी के अंदर अंतर्कलह बढ़ गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज