लाइव टीवी

कश्मीर मामले पर आज UNSC में 'क्लोज डोर' बैठक, फ्रांस ने चीन को दिया झटका


Updated: January 15, 2020, 9:29 PM IST
कश्मीर मामले पर आज UNSC में 'क्लोज डोर' बैठक, फ्रांस ने चीन को दिया झटका
कश्मीर मुद्दे को लेकर चीन की चाल एक बार फिर से फेल होती दिख रही है.

चीन (China) ने न्यूयार्क (Newyork) में बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् (UNSC) की बंद कमरे में हुई बैठक में एक बार फिर कश्मीर मुद्दा (Kashmir Issue) उठाने की कोशिश की. लेकिन उसकी यह कोशिश नाकाम होने की संभावना है

  • Last Updated: January 15, 2020, 9:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के मुद्दे पर बुधवार शाम न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) में बंद कमरे में बातचीत होगी. सूत्रों ने यह जानकारी दी है. फ्रांस (France) ने कहा कि ये चर्चा के लिए एक सदस्य देश के नए अनुरोध का विरोध करता है. फ्रांसीसी राजनयिक सूत्रों ने कहा कि पेरिस (Paris) को एक यूएनएससी (UNSC) सदस्य के अनुरोध की जानकारी मिली है जिसमें चीन ने कश्मीर मुद्दे को एक बार फिर से उठाने की सिफारिश की है.

सूत्रों ने कहा कि फ्रांस की स्थिति बदली नहीं है और यह बहुत स्पष्ट है: कश्मीर मुद्दे को द्विपक्षीय रूप से सुलझाया जाना चाहिए, जैसा कि हमने कई मौकों पर कहा है और इसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अपने साझेदारों के साथ इसे फिर से दोहराएंगे.

चीन ने की थी कोशिश
बता दें चीन ने न्यूयार्क में बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् (यूएनएससी) की बंद कमरे में हुई बैठक में एक बार फिर कश्मीर मुद्दा उठाने की कोशिश की. लेकिन उसकी यह कोशिश नाकाम होने की संभावना है क्योंकि परिषद् के अन्य सभी देश इसका विरोध करने वाले हैं.

फ्रांसीसी कूटनीतिक सूत्रों ने बताया कि फ्रांस ने इस शक्तिशाली संस्था में एक बार फिर कश्मीर मुद्दा उठाने के लिए यूएनएससी के एक सदस्य देश के अनुरोध पर गौर किया है और वह इसका विरोध करने जा रहा है, जैसा कि उसने पहले के एक मौके पर किया था.

बंद कमरे में बुलाई गई बैठक
अफ्रीकी देशों से जुड़े मुद्दे पर चर्चा के लिए सुरक्षा परिषद् की बंद कमरे में बैठक बुलाई गई . चीन ने ‘कोई अन्य कामकाज बिंदु’ के तहत कश्मीर मुद्दे पर चर्चा का अनुरोध किया.सूत्रों ने बताया कि फ्रांस का रुख नहीं बदला है और यह बहुत स्पष्ट है कि--कश्मीर मुद्दे का हल अवश्य ही द्विपक्षीय तरीके से किया जाए. यह बात कई मौकों पर कही गई है और संरा सुरक्षा परिषद् में साझेदारों से इसे दोहराता रहेगा.

गौरतलब है कि पिछले महीने फ्रांस, अमेरिका, ब्रिटेन और रूस ने यूएनएससी की बंद कमरे में हुई एक बैठक में कश्मीर मुद्दा पर चर्चा कराने की चीन की कोशिश नाकाम कर दी थी. जम्मू कश्मीर का भारत द्वारा पुनर्गठन किया जाना चीन को नागवार गुजरा है.

ये भी पढ़ें-
अगर भारत ने खरीद लिया होता ये इलाका तो पाकिस्तान होता बेहद कमजोर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 9:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर