कोरोना के नए मरीजों में रिकॉर्ड इज़ाफा, लेकिन कई राज्यों ने घटा दिए टेस्ट

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

Coronavirus: कई राज्यों में कोरोना के टेस्ट (COVID-19 Test) की संख्या में कमी आई है. दिलचस्प बात ये है कि ये वो राज्य हैं, जहां हर दिन मरीजों की संख्या में रिकॉर्ड बढ़त देखी जा रही है.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण में इन दिनों रिकॉर्ड इजाफा हो रहा है. पिछले कुछ दिनों से हर रोज़ करीब 10 हजार  लोग इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ रहे हैं. लेकिन इस बीच बुरी खबर ये है कि कई राज्यों में कोरोना के टेस्ट (COVID Test) की संख्या में कमी आई है. दिलचस्प बात यह है कि ये वो राज्य हैं, जहां हर दिन मरीजों की संख्या में रिकॉर्ड बढ़त देखी जा रही है. ऐसे में इन राज्यों में टेस्ट की संख्या को बढ़ाने की जरूरत है.

दिल्ली में औसत टेस्ट में आई कमी

अब ज़रा इन आंकड़ों पर गौर कीजिए. दिल्ली में 3 जून से लेकर 11 जून के बीच कोरोना की औसत टेस्टिंग 6540 से गिरकर 5001 पर पहुंच गई. जबकि इस दौरान पॉजिटिव मरीजों संख्या 18.3% से 27.7% पर पहुंच गई. खास बात ये है कि दिल्ली में टेस्ट के मुकाबले पॉजिटिव मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा है. दिल्ली के एक और आंकड़े पर नजर डालिए. 16 मई से 28 मई के बीच टेस्ट की संख्या 6660 से घटकर 4675 पहुंच गई.

महाराष्ट्र का हाल
महाराष्ट्र में 29 मई से 6 जून के बीच टेस्ट की संख्या 14497 से घटकर 12764 पर पहुंच गई. हालांकि बाद में 11 जून तक ये बढ़कर 14236 पर पहुंच गई. टेस्ट की ये संख्या तब घटी जब राज्य में ज्यादा से ज्यादा मरीज़ पॉजिटिव निकल रहे थे. टेस्ट में पॉजिटिव आने वाले मरीजों की दर 17.5% थी, लेकिन अब 5 टेस्ट में एक मरीज पॉजिटिव मिल रहे हैं.

गुजरात में भी औसत टेस्ट में कमी

गुजरात में ऐसा तीन बार हुआ जब टेस्ट की संख्या में कमी आई. 8 से 15 मई के बीच औसत टेस्ट 5230 से घटकर 3210 पर पहुंच गई. इसके बाद 22-30 मई के बीच टेस्ट की संख्या 6386 से 3959 पर पहुंच गई. 18-26 मई के बीच एक बार फिर टेस्ट की संख्या में कमी आई और ये 5161 से 3576 पर पहुंच गया. जबकि इस दौरान पॉजिटिव रेट 7.5% से 9.7% पर पहुंच गई.



ओडिशा का हाल

ओडिशा में भी टेस्ट की औसत संख्या में भारी कमी आई है. 24 मई से 11 जून के बीच टेस्ट की संख्या 4659 से घटकर 2798 पर पहुंच गई, जबकि इस दौरान पॉजिटिव रेट में 1.6% से 4.6% का इजाफा देखा.

दूसरों राज्यों का हाल

राजस्थान, उत्तराखंड और हरियाणा में भी टेस्ट की संख्या में कमी आई है. पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, झारखंड और आंध्र प्रदेश में औसत टेस्ट में कमी तो नहीं देखी गई, लेकिन इन राज्यों में हर एक लाख की जनखंख्या में टेस्ट की संख्या में कमी आई है.

देश में टेस्ट की दर

भारत में हर एक हजार की जनसंख्या पर सिर्फ 3.8 टेस्ट हो रहे हैं, जबकि रूस में ये संख्या 95 है. अमेरिका में हर एक हजार लोगों पर 66 टेस्ट हो रहे हैं. इसके अलावा ब्रिटेन में टेस्ट की ये दर 54 है.


ये भी पढ़ें:

महाराष्ट्र में स्कूल खोलने की तैयारी,कक्षा 1 से 12वीं तक का ऐसा होगा टाइम टेबल

आज से 18 जून तक पूर्वांचल में आंधी-बारिश की संभावना

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज