देश में कोरोना मामले 21 लाख के पार, 24 घंटे में आए रिकॉर्ड 64 हजार से ज्यादा केस

देश में कोरोना मामले 21 लाख के पार, 24 घंटे में आए रिकॉर्ड 64 हजार से ज्यादा केस
कोरोना वायरस को लेकर चेन्नई से एक अच्छी खबर सामने आई है (सांकेतिक फोटो)

कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) से ठीक होने वालों की दर और बेहतर होकर 68.32 प्रतिशत पर पहुंच गई है जबकि मृत्युदर गिरकर 2.04 प्रतिशत हो गई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के एक दिन में रिकॉर्ड 64,399 नए मामले आने के साथ ही रविवार को संक्रमण के कुल मामले 21 लाख का आंकड़ा पार कर गए, जबकि 861 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 43,379 हो गई. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने बताया कि पिछले 24 घंटे में 53,879 और लोगों के इस वैश्विक महामारी से उबरने के बाद स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 14,80,884 हो गई है. इसके साथ ही स्वस्थ होने वाले मरीजों की दर 68.78 फीसदी हो गई है. मृतकों की दर गिरकर 2.01 प्रतिशत रह गई है.

मंत्रालय ने बताया कि देश में इस समय 6,28,747 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. देश में कोरोना वायरस के कुल मामले बढ़कर 21,53,010 हो गए हैं जिनमें से 43,379 मरीजों की मौत हो चुकी है. यह लगातार तीसरा दिन है जब कोविड-19 के एक दिन में 60,000 से अधिक मामले आए हैं. भारत में शुक्रवार को संक्रमण के मामले 20 लाख से अधिक हो गए थे. वहीं इसके साथ ही केंद्र, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा कोविड-19 की रोकथाम, जांच, क्वारंटाइन और उपचार के लिए अपनाए जा रहे प्रयासों के कारण इस महामारी से ठीक होने वालों की दर और बेहतर होकर 68.32 प्रतिशत पर पहुंच गई है जबकि मृत्युदर गिरकर 2.04 प्रतिशत हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने के मुताबिक भारत में प्रति 10 लाख की आबादी पर संक्रमण के मामले 1,496 हैं जबकि वैश्विक औसत 2,425 है.

देश में मृत्यु दर 2.04 प्रतिशत
मंत्रालय के मुताबिक, प्रभावी निगरानी और जांच नेटवर्क में सुधार से मामलों के जल्दी पकड़ में आने के परिणामस्वरूप, गंभीर और जटिल मामलों में समय पर लोगों को उपचार मिल सका. मंत्रालय ने कहा, देश में कोरोना से होने वाली मौत की दर लगातार गिर रही है और आज की तारीख में 2.04 प्रतिशत है. कोविड-19 से होने वाली मौत की दर को घटाने के लिए लक्षित प्रयासों की वजह से भारत प्रति 10 लाख आबादी पर मौत के आंकड़े को घटाकर 30 तक ले आया है जबकि वैश्विक औसत प्रति 10 लाख की आबादी पर 91 मौत का है.
ये भी पढ़ें- चेन्नई को बड़ी सफलता: एक ही महीने में 6% गिरा कोविड-19 का पॉजिटिविटी रेट



एक दिन में सबसे ज्यादा सैंपल की जांच
वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि देश में कोरोना वायरस के लिए जांच की क्षमता को बढ़ाते हुए एक दिन में सात लाख से अधिक नमूनों की जांच की गयी है और अब तक कुल 2,41,06,535 नमूनों की जांच की जा चुकी है.

मंत्रालय ने कहा कि देश में स्वस्थ हुए कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या भी बढ़कर 14,80,884 हो गयी है. पिछले 24 घंटे में 53,879 कोरोना वायरस रोगियों को उपचार के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गयी है. एक दिन में यह सही होने वाले रोगियों की सर्वाधिक संख्या है. रोगियों के सही होने की दर अब बढ़कर 68.78 प्रतिशत हो गयी है. वहीं, संक्रमण से मृत्यु दर कम होकर 2.01 प्रतिशत हो गयी है.



मंत्रालय ने कहा कि एक दिन में जांच की संख्या तेजी से बढ़ रही है और भारत में पिछले कई दिन से रोजाना छह लाख से अधिक नमूनों की जांच की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज