लाइव टीवी

नन रेप केस: जाने कैसे आगे बढ़ा यह मामला

News18Hindi
Updated: September 21, 2018, 8:53 PM IST
नन रेप केस: जाने कैसे आगे बढ़ा यह मामला
नन से बलात्कार के आरोपी जालंधर के 54 वर्षीय बिशप फ्रैंको मुलक्कल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

बिशप फ्रेंक मुलक्कल ने अग्रिम जमानत की याचिका में दावा किया है कि उनके खिलाफ आरोप एक गढ़ी हुई कहानी है जिसका उद्देश्य बदला लेना है. जानिए 5 मई 2014 से लेकर कैसे आगे बढ़ा यह मामला.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2018, 8:53 PM IST
  • Share this:
नन से बलात्कार के आरोपी जालंधर के 54 वर्षीय बिशप फ्रेंक मुलक्कल को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया है. सूत्रों ने बताया कि पुलिस ने पूछताछ के दौरान बिशप फ्रेंको के खिलाफ पर्याप्त सबूत इकट्ठा कर लिए हैं. फ्रेंक मुलक्कल ने मंगलवार को केरल हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की जिस पर 25 सितंबर को सुनवाई होगी.

बिशप फ्रेंक मुलक्कल ने अग्रिम जमानत की याचिका में दावा किया है कि उनके खिलाफ आरोप एक गढ़ी हुई कहानी है जिसका उद्देश्य बदला लेना है. जानिए 5 मई 2014 से लेकर कैसे आगे बढ़ा यह मामला.

5 मई 2014 – पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक सेंट फ्रांसिस मिशन गेस्ट हाउस के कमरा नं. 20 में पहली बार रेप किया. आरोपी के अनुसार तब से 23 सितंबर 2016 तक लगातार जब भी बिशप आया उसने आरोपी का रेप किया.
23 जून- जालंधर डॉयोसिस के पीआरओ ने भुक्तभोगी के भाई के विरुद्ध कोट्टायम मुकदमा दर्ज कराया.

27 जून 2018- 45 साल की नन ने पुलिस चीफ के यहां 2014 से 2016 तक रेप की शिकायत की.
28 जून 2018- कर्विलांड थाने में मुकदमा दर्ज कर नन की जांच कराई गई.
29 जून 2018- जांच डिप्टी एसपी को सौंपी गई.1 जुलाई 2018- जांच चलती रही और बिशप के देश छोड़ने पर रोक लगाई गई. पीड़िता का बयान मजिस्ट्रेट के सामने कराया गया. नन ने जिन पादरियों से सबसे पहले शिकायत की थी उनसे भी पुलिस ने पूछताछ की.
30 जुलाई 2018- पुलिस ने सीएमआ चर्च के फादर जेम्स एर्थियिल से पूछ-ताछ की, जिन पर नन ने दबाव बनाने के आरोप लगाए थे. यहां पुलिस को ऑडियो रिकॉर्डिंग भी मिली जिसमें उसने नन को शिकायत वापस लेने पर 10 एकड़ जमीन और उसकी एक मित्र नन को एक नया कांवेंट देने की पेशकश की थी.
3 अगस्त 2018- जांच दल दिल्ली गया और वहां मुख्य गवाह और उसके पति का बयान दर्ज किया.
10 अगस्त 2018- केरल पुलिस जालंधर पहुंची.
13 अगस्त 2018- बिशप मलक्कल से जांच दल ने उनके घर में नौ घंटे पूछ-ताछ की.
27 अगस्त 2018- नन ने पुलिस को कहा कि उसके जीवन को खतरा है, बिशप का एक सहयोगी उसे धमका रहा है.
2 सितंबर 2018- पुलिस प्रमुख ने जांच अधिकारी के साथ बैठक की.
8 सितंबर 2018- नन ने भारत में वेटिकन के दूत को पत्र भेज कर अपनी शिकायत पर ध्यान न देने के लिए चर्च के अधिकारियों और पोप तक को दोषी कहा.
17 सितंबर 2018- बिशप ने वेटिकन पत्र भेज कर पद छोड़ने का आग्रह किया
20 सितंबर 2018- वेटिकन ने बिशप को कार्यमुक्त कर दिया गया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 21, 2018, 8:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर