यूपीए सरकार के इस पूर्व मंत्री ने कांग्रेस की 'न्याय योजना' पर उठाए सवाल

रघुवंश प्रसाद सिंह यूपीए सरकार में गामीण विकास मंत्री थे. महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना ( MGNREGA)को लाने में उनका अहम योगदान रहा था.

Sumit Pande | News18Hindi
Updated: May 8, 2019, 10:34 AM IST
यूपीए सरकार के इस पूर्व मंत्री ने कांग्रेस की 'न्याय योजना' पर उठाए सवाल
रैली में मंच पर रघुवंश प्रसाद सिंह
Sumit Pande | News18Hindi
Updated: May 8, 2019, 10:34 AM IST
यूपीए सरकार में ग्रामी विकास मंत्री रहे रघुवंश प्रसाद सिंह ने कांग्रेस की न्याय योजना (NYAY) पर सवाल खड़े करते हुए उसे 'मुफ्त की रेवड़ीयां' बताई है. उन्होंने कहा कि इससे बेहतर मनरेगा (MGNREGA) की स्कीम थी. रघुवंश प्रसाद इस बार राष्ट्रीय जनता दल की टिकट पर वैशाली से चुनाव लड़ रहे हैं.

न्यूज़ 18 से बात करते हुए उन्होंने कहा, 'मनरेगा योजना न्याय स्कीम से बेहतर है. ये मुफ्त की रेवड़ियां नहीं हैं. मनरेगा लोगों को नौकरी और पैसे देता है. अगर हम सत्ता में आते हैं तो हमारी कोशिश होगी मनरेगा योजना का विस्तार करना. वो भी न सिर्फ सरकारी ज़मीन पर बल्कि प्राइवेट ज़मीन पर भी.'

रघुवंश प्रसाद सिंह यूपीए सरकार में गामीण विकास मंत्री थे. महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना ( MGNREGA)को लाने में उनका अहम योगदान रहा था. पूर्व केंद्रीय मंत्री इस बार बिहार के वैशाली से आरजेडी के प्रत्याशी हैं. खास बात ये है कि आरजेडी और कांग्रेस का बिहार में गठबंधन है और दोनों एक साथ मिलकर वहां चुनाव लड़ रही है. ऐसे में रघुवंश प्रसाद के इस बयान पर कांग्रेस की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया सामने आ सकती है.

क्या है न्याय योजना?

बता दें कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में गरीबों के लिए सालाना 72 हज़ार रुपये उनकी आय सुनिश्चित करने का वादा किया है. कांग्रेस ने इस स्कीम को न्याय योजना का नाम दिया है. कांग्रेस अध्यक्ष सहित पार्टी के तमाम नेता अपने चुनाव प्रचार के दौरान इसका जमकर प्रचार-प्रसार कर रहे हैं. कांग्रेस का मानना है कि ये स्कीम लोकसभा चुनाव में पार्टी के लिए गेम चेंजर साबित होगी.

ये भी पढ़ें:

हिंदू आतंकवाद की झूठी थ्योरी का जवाब हैं साध्वी प्रज्ञा: शाह
Loading...

'प्रज्ञा पर गंभीर मामला, चुनाव लड़ने से क्यों नहीं रोका'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsAppअपडेट्स
First published: May 8, 2019, 10:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...