Home /News /nation /

मोटे लोगों के लिए खतरे की घंटी है कोरोना पर ये नई स्टडी, जानें क्या हुआ खुलासा

मोटे लोगों के लिए खतरे की घंटी है कोरोना पर ये नई स्टडी, जानें क्या हुआ खुलासा

मोटे लोगों में कोरोना संक्रमण की समस्या दोहरी मार कर सकती है. (सांकेतिक तस्वीर)

मोटे लोगों में कोरोना संक्रमण की समस्या दोहरी मार कर सकती है. (सांकेतिक तस्वीर)

New Covid Study: एक नई स्टडी में खुलासा हुआ है कि सामान्य लोगों की तुलना में मोटे लोगों पर कोविड संक्रमण दोहरी मार कर सकता है. स्टडी के मुताबिक संक्रमण के बाद मोटे लोगों में आईसीयू में भर्ती होने का खतरा दोगुना है. स्टडी यह भी कहती है कि हाई बॉडी मास इंडेक्स (BMI) वाले लोगों में मौत का खतरा भी दोगुना है. PLOS ONE साइंस जर्नल में प्रकाशित स्टडी में इस बात का खुलासा किया गया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron Variant) की संक्रमण रफ्तार को देखते हुए एक्सपर्ट एक नई लहर (New Wave) की आशंका जता रहे हैं. माना जा रहा है कि इस नए वेरिएंट के कारण बड़ी संख्या में लोग कोरोना संक्रमण (Covid-19 Infection) के शिकार हो सकते हैं. इस बीच एक नई स्टडी में खुलासा हुआ है कि सामान्य लोगों की तुलना में मोटे लोगों (Obese Covid-19 patients) पर कोविड संक्रमण दोहरी मार कर सकता है. स्टडी के मुताबिक संक्रमण के बाद मोटे लोगों में आईसीयू में भर्ती होने का खतरा दोगुना है.

    स्टडी यह भी कहती है कि हाई बॉडी मास इंडेक्स (BMI) वाले लोगों में मौत का खतरा भी दोगुना है. PLOS ONE साइंस जर्नल में प्रकाशित स्टडी में इस बात का खुलासा किया गया है. इससे पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्टडी में कहा जा चुका है ज्यादा BMI वाले लोगों में कोरोना के गंभीर होने का खतरा अधिक होता है.

    मोटे संक्रमित लोगों के अस्पताल में भर्ती होने का प्रतिशत ज्यादा
    एक स्वीडिश एक्सपर्ट ने बताया है- स्वीडन में मोटापे के शिकार कोरोना संक्रमित लोगों को अस्पताल में भर्ती कराए जाने का प्रतिशत अधिक रहा है. साथ ही ऐसे लोगों में संक्रमण के गंभीर होने और मौत का खतरा भी सामान्य लोगों से ज्यादा होता है.

    ये भी पढ़ें: सुबह 9 बजे दिल्ली से निकले थे CDS रावत, दोपहर 12.20 पर क्रैश हुआ हेलीकॉप्टर, आर्मी कैंप पहुंचने से 5 मिनट पहले हादसा

    बच्चों पर हुई स्टडी में दी गई है चेतावनी
    हाल में बच्चों पर आई एक स्टडी में भी कहा गया था कि सामान्य बच्चों की तुलना में मोटे बच्चों में कोरोना संक्रमण का प्रभाव ज्यादा हो सकता है. कनाडा, ईरान और कोस्टारिका में 400 से अधिक बच्चों पर हुई स्टडी में कहा गया था कि मोटापा और कोरोना का गंभीर संक्रमण सीधे तौर पर एक दूसरे से जुड़े हुए हैं.

    बता दें कि नए ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर दुनियाभर के वैज्ञानिक अभी रिसर्च में जुटे हुए हैं. जानने की कोशिश की जा रही है कि क्या ये नया वेरिएंट डेल्टा की तुलना में ज्यादा खतरनाक है. हालांकि बड़े अमेरिकी एक्सपर्ट एंथनी फॉसी ने कहा है कि ओमिक्रॉन वेरिएंट डेल्टा से ज्यादा खतरनाक नहीं है.

    Tags: COVID 19, Omicron

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर