आज का मौसम, 21 मई: दिल्ली-एनसीआर समेत राजस्थान और यूपी के कुछ हिस्सों में बारिश के आसार

 (AP Photo/Satish Sharma)

(AP Photo/Satish Sharma)

देश के कई हिस्सों में शुक्रवार को बारिश के आसार जताए गए हैं. मौसम विभाग (IMD) ने इस आशय की जानकारी दी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश के कई हिस्सों में शुक्रवार को बारिश के आसार जताए गए हैं. मौसम विभाग (IMD) ने इस आशय की जानकारी दी है. मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली और एनसीआर - बहादुरगढ़, गुरुग्राम, मानेसर, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, लोनी देहात के अधिकांश स्थानों पर पूरी दिल्ली के आसपास गरज के साथ बारिश और 30-60 किमी / घंटा की गति के साथ तेज हवाएं चल सकती हैं.

मौसम विभाग ने कहा कि हिंडन एएफ स्टेशन, गाजियाबाद, इंदिरापुरम, छपरौला, नोएडा, दादरी, ग्रेटर नोएडा, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, कैथल, करनाल, पानीपत, गन्नौर, सोनीपत, फतेहाबाद, नरवाना, राजौंद, असंध, सफीदों, जींद, गोहाना, खरखोदा, आदमपुर, हिसार , हांसी, महम, रोहतक, सिवानी, तोशाम में भी बारिश की संभावना है .

साथ ही भिवानी, झज्जर, लोहारू, नारनौल, महेंद्रगढ़, कोसली, चरखी दादरी, मट्टनहेल, फारुखनगर, बावल, रेवाड़ी, नूंह, सोहाना, होडल, औरंगाबाद, पलवल (हरियाणा) सहारनपुर, गंगोह, देवबंद, मुजफ्फरनगर, शामली, बरौत, बागपत, , नजीबाबाद, बिजनौर, चांदपुर, हस्तिनापुर, खतौली, दौराला, मेरठ, मोदीनगर, अमरोहा, गढ़मुक्तेश्वर, सियाना, हापुड़, पिलाखुआ, सहसवां, नरौरा, अनूपशहर, जहांगीराबाद, बुलंदशहर, गुलाटी, बरसाना (यूपी) कोटपुतली, भिवाड़ी, अलवर, तिजारा (राजस्थान) में अगले दो घंटे के दौरान बारिश हो सकती है.

दक्षिण पश्चिम मानसून आज अंडमान सागर में संभवत: गति पकड़ेगा : आईएमडी
दक्षिण पश्चिम मानसून संभव है कि आज 21 मई को अंडमान सागर में और उससे लगी दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी में गति पकड़ेगा. यह जानकारी भारत के मौसम विभाग (आईएमडी) ने बृहस्पतिवार को दी. मौसम विभाग ने बताया कि दक्षिण पश्चिम मानसून के 27 मई से दो जून के बीच केरल तक पहुंचने और अगले दो सप्ताह में पूरे प्रदेश में सक्रिय होने की संभावना है.

आईएमडी के मुताबिक 22 मई के करीब उत्तरी अंडमान सागर और उससे जुड़े पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है. इसके 24 मई तक चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की बहुत अधिक संभावना है.

मौसम विभाग ने कहा कि बहुत संभव है कि यह चक्रवाती तूफान 26 मई की सुबह उत्तरी बंगाल की खाड़ी में ओडिशा-पश्चिम बंगाल के तट पर पहुंचे. विभाग ने कहा, ‘सहायक मौसमी परिस्थितियों की वजह से संभावना है कि दक्षिण पश्चिम मानसून दक्षिण अंडमान सागर और उससे जुड़े दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी में 21 मई से गति पकड़ेगा.’



यास तूफान : तटरक्षक बल ने मछुआरों और नाविकों को लौटने की चेतावनी दी

भारतीय तटरक्षक बल के पोत, विमान और दूरस्थ अड्डों ने ‘यास’ तूफान के मद्देनजर बंगाल की खाड़ी में गए मछुआरों और नाविकों को तट पर लौटने या नजदीकी बंदरगाहों पर सुरक्षा आश्रय लेने संबंधी चेतावनी प्रसारित करनी शुरू कर दी है. आधिकारिक बयान के मुताबिक अगले 72 घंटे में तूफान के और मजबूत होने की संभावना है.

भारतीय तटरक्षक बल ने बयान में कहा, ‘भारतीय मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार 22 मई (शनिवार) के करीब उत्तरी अंडमान सागर और निकटवर्ती पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है.’

उल्लेखनीय है कि अरब सागर में उठे टाउते तूफान के कुछ दिन बाद बंगाल की खाड़ी में ‘यास’ तूफान आने की संभावना बन रही है. टाउते तूफान सोमवार की रात गुजरात के गिर सोमनाथ जिले के उना कस्बे के नजदीक तट से टकराया था जिससे गुजरात के विभिन्न इलाकों में कम से कम 53 लोगों की मौत हुई है. तटरक्षक बल के मुताबिक ‘यास’ अगले 72 घंटों में चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है.

संभावित चक्रवात को लेकर ओडिशा ने 12 जिलों को किया सतर्क

ओडिशा सरकार ने 26 मई को राज्य के तट पर चक्रवाती तूफान आने की आशंका के मद्देनजर 12 जिलों के प्राधिकारियों को बृहस्पतिवार को सतर्क कर दिया और कहा कि वह हर प्रकार की परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार है.


विशेष राहत आयुक्त पी के जेना ने बताया कि ओडिशा को भारत मौसम विज्ञान विभाग का बुलेटिन मिला, जिसमें बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने का पूर्वानुमान जताया गया है, जो चक्रवाती तूफान में बदल सकता है. इस तूफान के 26 मई तक ओडिशा-पश्चिम बंगाल तट से गुजरने की संभावना है. जेना ने कहा कि सरकार चक्रवात से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है और प्राधिकारियों को सतर्क कर दिया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज