Home /News /nation /

odisha thousands of devotees have darshan of the a form of lord jagannath

ओडिशा: हजारों श्रद्धालुओं ने किए भगवान जगन्नाथ के ‘‘नवयौवन’’ स्वरूप के दर्शन

जुलाई माह के पहले ही दिन विश्व प्रसिद्ध जगन्नाथ रथ यात्रा का प्रारंभ होगा.

जुलाई माह के पहले ही दिन विश्व प्रसिद्ध जगन्नाथ रथ यात्रा का प्रारंभ होगा.

Lord Jagannath: ओडिशा के पुरी में बुधवार को हजारों श्रद्धालुओं ने भगवान जगन्नाथ, भगवान बलभद्र और देवी सुभद्रा के ‘‘नवयौवन’’ स्वरूप के दर्शन किए. भक्तों ने करीब दो साल के बाद भगवान के इस स्वरूप के दर्शन किए क्योंकि कोविड-19 महामारी की वजह से श्रद्धालुओं के एकत्रित होने पर पाबंदियां लागू थीं.

अधिक पढ़ें ...

पुरी: ओडिशा के पुरी में 12वीं सदी में स्थापित श्री मंदिर में हजारों श्रद्धालुओं ने बुधवार को भगवान जगन्नाथ, भगवान बलभद्र और देवी सुभद्रा के ‘‘नवयौवन’’ स्वरूप के दर्शन किए. श्रद्धालुओं ने करीब दो साल के बाद भगवान के इस स्वरूप के दर्शन किए क्योंकि कोविड-19 महामारी की वजह से श्रद्धालुओं के एकत्रित होने पर पाबंदियां लागू थीं. राज्य सरकार ने कोविड-19 के मामलों में कमी आने के बाद लोगों को मंदिर में आने की अनुमति दी है.

परंपरा के अनुसार भगवान पूर्णिमा के स्नान के बाद से मंदिर के ‘‘ अनसर गृह’’(अस्वस्थ होने पर जिस कक्ष में रखा जाता है) में रहते हैं. माना जाता है कि इस दिन भगवान स्नान के बाद हुए ज्वर से मुक्त होने के बाद युवा दिखते हैं.

श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) द्वारा जारी समय सारिणी के अनुसार परिमाणिक (भुगतान) दर्शन सुबह आठ बजे से नौ बजे के बीच मंदिर खुलने के बाद हुए. इसके बाद सुबह नौ बजे से साढ़े दस बजे तक आम श्रद्धालुओं को दर्शन की अनुमति दी गई. एसजेटीए के मुताबिक आम श्रद्धालु उपराह्न दो से तीन बजे, फिर शाम को छह से साढ़े छह बजे, रात नौ से साढ़े 10 बजे और फिर देर रात साढ़े ग्यारह से रात साढ़े बारह बजे तक भगवान के दर्शन कर सकते हैं.

मंदिर प्रशासन के मुताबिक 30 जून को ‘‘उभा यात्रा’’(रथ यात्रा से पहले की यात्रा) होगी। इस साल पुरी की प्रसिद्ध रथ यात्रा एक जुलाई को होगी.

Tags: Lord jagannath rath yatra, Odisha

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर