लाइव टीवी

हाथों में 12 और पैरों में हैं 20 उंगलियां, गांव वाले बुलाते हैं 'डायन', तानों से तंग बुजुर्ग ने छोड़ा घर

News18Hindi
Updated: November 25, 2019, 10:47 AM IST
हाथों में 12 और पैरों में हैं 20 उंगलियां, गांव वाले बुलाते हैं 'डायन', तानों से तंग बुजुर्ग ने छोड़ा घर
ओडिशा के गंजम जिले के कड़ापाड़ा गांव की नायक कुमारी.

हाथों और पैरों में सामान्य से ज्यादा उंगलियां पैलीडेक्टली बीमारी के कारण होती है. ऐसी स्थिति गर्भ के समय ही बन जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2019, 10:47 AM IST
  • Share this:
भुवनेश्वर. जन्म के साथ जुड़ी बीमारी ने एक महिला को इस कदर लाचार कर दिया उसे अपना घर तक छोड़ना पड़ा. बुजुर्ग के शरीर की बनावट के कारण आज भी लोग उसे 'डायन' (Witch) कहकर बुलाते थे. बुजुर्ग जहां भी जाती है वहां से उसे घर छोड़ने पर मजबूर किया जाता था.

ओडिशा (Odisha) के गंजम जिले के कड़ापाड़ा गांव की नायक कुमारी (63) को आज भी लोग डायन मानते हैं. गांववालों से बचने के लिए वह ज्यादातर समय घर की चारदीवारी में ही बिताती है. ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि उनके हाथों में 12 और पैरों में 20 उंगलियां हैं. डॉक्टर इसे मात्र आनुवंशिक गड़बड़ी बता रहे हैं लेकिन गांव वाले महिला को अपनाने को तैयार नहीं हैं.

अपनी हालत के बारे में बताते हुए कुमारी कहती हैं कि मैं इसी तरह से पैदा हुई थी. हम आर्थिक रूप से काफी कमजोर थे, इसलिए मेरे माता-पिता मेरा इलाज नहीं करा सके. मेरे आस पड़ोस में रहने वाले लोग मुझे डायन मानते हैं और मुझसे दूर रहते हैं. लोगों की नफरत से बचने के लिए मैं घर के अंदर ही रहती हूं. जब कभी हिम्मत करके बाहर आती हूं तो लोग मुझे डायन कहते हुए वापस घर के अंदर जाने को कहते हैं.

Odisha, disease, superstition, genetic disease
कड़ापाड़ा गांव की नायक कुमारी के दोनों पैरों में 20 उंगलियां हैं.


इसे भी पढ़ें :- देखिये क्यों, चूरू की इस महिला ने पैदा किए 12 बच्चे, इन्हें अपनी 11 बेटियों के नाम भी याद नहीं

गांव के लोग आज भी अंधविश्वास में जी रहे
नायक कुमारी के पड़ोस में रहने वाले एक शख्स ने बताया कि गांव के ज्यादातर लोग कुमारी को डायन बुलाते हैं. हमें ये देखकर काफी दुख होता है. यह एक छोटा सा गांव है और लोग अंधविश्वासी हैं. उनके हाथों और पैरों की उंगलियों के कारण बुजुर्ग के साथ डायन जैसा बर्ताव किया जाता है. यह एक बीमारी है, जिसके बारे में कुछ नहीं किया जा सकता.
Loading...

Odisha, disease, superstition, genetic disease
कड़ापाड़ा गांव की नायक कुमारी के हाथों में 12 उंगलियां होने वह घर से नहीं निकलतीं.


पॉलीडैक्टली बीमारी क्या होती है
हाथों और पैरों में सामान्य से ज्यादा उंगलियां पैलीडेक्टली बीमारी के कारण होती है. ऐसी स्थिति गर्भ के समय ही बन जाती है. मां के पेट में 7वें या 8वें हफ्ते में ही भ्रूण में ज्यादा उंगलियां विकसित हो जाती हैं. दुनिया में 1000 बच्चों में एक बच्चे में ये बीमारी पाई जाती है. इस बीमारी के बारे में अल्ट्रासाउंड में ही पता लगाया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें :- किसान पिता ने बेटी को शादी के बाद हेलिकॉप्टर में बिठाकर किया विदा, बचपन में जताई थी इच्छा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 25, 2019, 9:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...