• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • जम्मू-कश्मीर में ओम बिरला, बोले- लोकतांत्रिक संस्थाओं को सशक्त बनाने के प्रयास जारी

जम्मू-कश्मीर में ओम बिरला, बोले- लोकतांत्रिक संस्थाओं को सशक्त बनाने के प्रयास जारी

लोकसभा स्‍पीकर ओम बिरला जम्मू-कश्मीर दौरे पर हैं. (फाइल फोटो)

लोकसभा स्‍पीकर ओम बिरला जम्मू-कश्मीर दौरे पर हैं. (फाइल फोटो)

Om Birla in Jammu-Kashmir: ओम बिरला ने जम्मू कश्मीर के पंचायत प्रतिनिधियों के कामों की तारीफ करते हुए कहा कि यहां की पंचायतें जनता की आशाओं और अपेक्षाओं के अनुरूप कार्य कर रही हैं. पंचायतें आमजन के जीवन में सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन लाने के लिए काम कर रही हैं.

  • Share this:

श्रीनगर. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Loksabha Speaker Om Birla) ने कहा है कि कश्मीर की लोकतांत्रिक संस्थाओं को सशक्त बनाने के लिए सभी संस्थाएं लगातार प्रयास में है. श्रीनगर में आयोजित पंचायत राज के एक कार्यक्रम की अध्क्षयता आज लोकसभा अध्यक्ष ने की. इस कार्यक्रम में जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्लाह और निर्मल सिंह मौजूद थे.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिरला ने कहा कि कश्मीर धरती का स्वर्ग है, यहां का प्राकृतिक सौंदर्य और लोगों की जीवंतता अद्वितीय है. उन्होंने कहा है कि यहां के लोगों की शालीनता और देश के प्रति प्रतिबद्धता अद्भुत है. लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि लोकतंत्र हमारी जीवन पद्धति में है, हमारी संस्कृति और सभ्यता में है. लोगों की जीवन शैली का स्थायी भाग है लोकतंत्र. भारत में समूहिकता से सभी के कल्याण का निर्णय लेने की परम्परा बहुत पुरानी है. लोकतंत्रिक मूल्यों के संदर्भ में भारत पूरे विश्व के मार्गदर्शक की भूमिका में है.

बिरला ने जम्मू कश्मीर के पंचायत प्रतिनिधियों के कामों की तारीफ करते हुए कहा कि यहां की पंचायतें जनता की आशाओं और अपेक्षाओं के अनुरूप कार्य कर रही हैं. पंचायतें आमजन के जीवन में सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन लाने के लिए काम कर रही हैं. बिरला ने इस मौके पर कहा कि लोकतांत्रिक संस्थाओं को मजबूत, सशक्त, जवाबदेह और पारदर्शी बनाना हमारा सामूहिक उत्तर दायित्व है. जनता से संवाद और चर्चा के बाद पंचायतें बनाती हैं.

यह भी पढ़ें: UP Election 2022 : सत्‍ता की चाहत में अखिलेश यादव ने अपने ही नियमों पर लगाया विराम, जानें यू-टर्न की वजह

बिरला ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि पंचायतें मजबूत होंगी तो देश के नीति, कानून कार्यक्रम का उचित क्रियान्वयन कर पाएंगे. जनता से सीधा संवाद पंचायत राज प्रतिनिधियों से होता है. महिलाओं और बच्चों के कल्याण के लिए भी पंचायतें योजनाएं बना रही हैं. आत्मनिर्भर बनने के लिए भी प्रयास कर रही हैं पंचायतें. देश में नीति और कानून निर्धारण में पंचायतें भी लोगों की राय पहुंचाकर सक्रिय भूमिका निभाएं. एक-दूसरे के अनुभव और विचारों को साझा कर बेस्ट प्रेक्टिस अपनाएं पंचायतें.

इस मौके पर ओम बिरला ने कहा कि देश-विदेश के पर्यटक कश्मीर के गांवों में जाकर स्थानीय उत्पाद खरीदना चाहते हैं. हमें उत्पादों को अन्तराष्ट्रीय पहचान दिलाने के लिए भी लोकतांत्रिक संस्थाएं काम करें. कश्मीर के युवा स्टार्टअप तैयार कर रहे हैं, गांव में बैठक कर रोजगार मांगने नहीं देने का काम कर रहे हैं. रोजगार की दृष्टि से भी जम्मू और कश्मीर जल्द आत्मनिर्भर होंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज