अपने देशों के 'असली' टूरिस्ट को J&K भेजें, 24 विदेशी राजनयिकों की कश्मीर यात्रा पर उमर का तंज

उमर अब्दुल्ला. (फाइल फोटो)

Jammu Kashmir News: अनुच्छेद 370 को निरस्त किए जाने के बाद केंद्रशासित प्रदेश में जमीनी हालात का जायजा लेने के लिए दो दिवसीय यात्रा पर बुधवार को जम्मू-कश्मीर आए थे.

  • Share this:

    श्रीनगर. नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने 24 विदेशी राजनयिकों की कश्मीर यात्रा पर बृहस्पतिवार को कटाक्ष करते हुए उनसे कहा कि वे अपने देशों के असली पर्यटकों को जम्मू-कश्मीर भेजें. जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर ने ट्वीट किया, ‘कश्मीर आने का शुक्रिया. अब कृपया करके, अपने देशों से कुछ असली पर्यटकों को जम्मू-कश्मीर भेजिए.’


    इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सैफुद्दीन सोज ने बुधवार को कहा था कि राजनयिकों का यह दौरा लगभग हर साल होता है और यह बेकार की कवायद है क्योंकि सरकार को इससे कोई फायदा नहीं होता. केंद्रशासित प्रदेश में मुख्यधारा के अधिकतर नेता राजनयिकों की इस यात्रा पर चुप्पी साधे हुए हैं. इस प्रतिनिधिमंडल में यूरोपीय देशों और इस्लामी सहयोग संगठन (ओआईसी) से जुड़े कुछ देशों के राजनयिक भी शामिल हैं.





    उल्लेखनीय है कि पांच अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर इसे दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया गया था. केंद्र के इस फैसले के बाद पिछले 18 महीने में विदेशी राजनयिकों का यह तीसरा दौरा है. प्रतिनिधिमंडल में इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) के चार देशों-मलेशिया, बांग्लादेश, सेनेगल और ताजिकिस्तान के राजनयिक भी शामिल हैं.


    प्रतिनिधिमंडल में फ्रांस, यूरोपीय संघ, ब्राजील, इटली, फिनलैंड, क्यूबा, चिली, पुर्तगाल, नीदरलैंड, बेल्जियम, स्पेन, स्वीडन, किर्गिस्तान, आयरलैंड, घाना, एस्टोनिया, बोलिविया, मालावी, इरिट्रिया और आइवरी कोस्ट के राजनयिक भी शामिल हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.