उमर अब्दुल्ला ने राम माधव को दी चुनौती, कहा- 'पाक कनेक्शन' सिद्ध करो या माफी मांगो

जम्मू-कश्मीर में बुधवार की शाम गवर्नर सत्यपाल मलिक ने विधानसभा को भंग कर दिया. जिसके बाद अब किसी भी पार्टी राज्य में सरकार नहीं बना पाएगी.

News18Hindi
Updated: November 22, 2018, 3:36 PM IST
News18Hindi
Updated: November 22, 2018, 3:36 PM IST
जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने बीजेपी नेता राम माधव के बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है. बीजेपी के महासचिव राम माधव ने कहा था पीडीपी और नेशनल कांफ्रेस ने एक दूसरे से हाथ मिला लिया है क्योंकि ऐसा करने के लिए उन्हे सीमापार से निर्देश दिए गए हैं.

इसका जवाब देते हुए उमर अब्दुल्ला ने कहा, "मैं राम माधव जी को चुनौती देता हूं कि आरोप साबित करें. आपके पास रॉ, एनआईए और आईबी है. सीबीआई भी आपके कंट्रोल में है. तो अगर आपमें हिम्मत है तो जनता के सामने सबूत रखें. वरना माफी मांगें. खराब राजनीति न करें.'



दरअसल, इस बात की काफी चर्चा थी कि जम्‍मू कश्‍मीर में पीडीपी, कांग्रेस और नेशनल कांफ्रेंस मिलकर सरकार बना सकते हैं. सूत्रों के अनुसार पीडीपी के विधायकों को तोड़ने की बीजेपी की कोशिशों की खबरों के कारण इसकी अटकलें लगने लगी थीं. बीजेपी तोड़े गए विधायकों की मदद से अपने सहयोगी सज्‍जाद लोन की पार्टी पीपल्‍स कांफ्रेंस के नेतृत्‍व में सरकार बनाने की कोशिशें कर रही थी.
Loading...

यह भी पढ़ें: जानें कौन हैं जम्मू-कश्मीर की विधानसभा भंग करने वाले सत्यपाल मलिक

मौजूदा वक्त में पीडीपी के पास 28 विधायक हैं जबकि नेशनल कांफ्रेंस के पास 15 और कांग्रेस के 12 विधायक हैं. तीनों पार्टियों के पास कुल मिलाकर 44 विधायक हैं जो कि बहुमत से काफी ज्‍यादा है. नेशनल कांफ्रेंस के सूत्रों ने बताया कि वह गठबंधन सरकार में साझेदार नहीं बनेंगे लेकिन उन्‍हें बाहर से समर्थन देने में कोई परेशानी नहीं है.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में बुधवार की शाम गवर्नर सत्यपाल मलिक ने विधानसभा को भंग कर दिया. जिसके बाद अब किसी भी पार्टी राज्य में सरकार नहीं बना पाएगी. राज्य में अब नए सिरे से चुनाव कराए जाएंगे. राज्यपाल के इस फैसले से विपक्षी पार्टियों में भारी नाराज़गी भी देखने को मिल रही है. कई नेताओं ने गवर्नर के इस फैसले पर सवाल उठाए. हालांकि, राज भवन ने देर रात एक बयान जारी कर इस पर राज्यपाल का रुख साफ किया है और विधानसभा भंग करने का कारण स्पष्ट कर दिया.

ये भी पढ़ें: J&K: BJP-PDP के रास्ते अलग होने से लेकर विधानसभा भंग होने तक, पढ़ें क्या-क्या हुआ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2018, 1:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...